close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: खाप पंचायत ने 2 भाइयों पर लगाया 5 लाख का जुर्माना, न देने पर किया समाज से बहिष्कृत

जानकारी के अनुसार फलोदी के बामणू निवासी समाराम मेघवाल और ओमाराम मेघवाल ने पुलिस को लिखित रिपोर्ट पेश कर बताया कि उनकी चाची सारो देवी ने पुर्व में खुदकुशी कर ली थी.

राजस्थान: खाप पंचायत ने 2 भाइयों पर लगाया 5 लाख का जुर्माना, न देने पर किया समाज से बहिष्कृत
प्रतीकात्मक तस्वीर

जोधपुर: फलोदी के बामणु गांव में खाप पंचायत ने फरमान जारी करते हुए दो भाईयों के परिवारों के लिए परेशानी उत्पन्न कर दी है. जातिय पंचों ने इन परिवारों पर पांच पांच लाख का जुर्माना लगाया है. जुर्माना अदा नहीं किए जाने पर इन परिवारों को समाज से बहिष्कृत कर दिया गया. बहिष्कृत किए जाने के बाद इन परिवारों के मुखिया समाराम मेघवाल और ओमाराम मेघवाल ने न्याय की गुहार लगा कर पंचों के खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करवाई है. 

जानकारी के अनुसार फलोदी के बामणू निवासी समाराम मेघवाल और ओमाराम मेघवाल ने पुलिस को लिखित रिपोर्ट पेश कर बताया कि उनकी चाची सारो देवी ने पुर्व में खुदकुशी कर ली थी. जिसकी किसी भी तरह की कोई पुलिस कार्रवाई नहीं की गई थी. चाची की मौत के बाद पंचों ने इनके चाचा फकिराराम से 51 हजार दंड भरवाया. साथ ही पंचों ने इन दोनों भाईयों समाराम और ओमाराम को भी पांच पांच लाख दंड भरने का फैसला सुनाया. जिसपर इन दोनों भाइयों ने दंड भरने से साफ इंकार कर दिया. 

दोनों भाइयों के मना करने पर पंचों ने इनको समाज से बहिष्कृत कर दिया. पंचों के फरमान के बाद ये परिवार न तो मेघवाल समाज की किसी भी सामाजिक गतिविधियों में शामिल हो सकता है और न ही मंदिर या शादी-विवाह और बूढ़े बुजुर्ग की मौत पर शव यात्रा में भी शामिल हो सकता है. इतना ही नहीं इन परिवारों की पुत्रवधूएं तीज त्यौहार के मौके पर अपने पीहर तक नहीं जा सकतीं. 

बावजूद इसके जबरन अगर पुत्रवधू पीहर चली भी जाए तो उनके पीहर पक्ष पर भी जुर्माना लगाकर समाज से बहिष्कृत करने की चेतावनी दी जाती है. मामले को लेकर जब बामणु सरपंच हरूराम मेघवाल से पूछा गया तो सरपंच ने गांव में किसी भी तरह की कोई पंचायत बैठने या फरमान जारी होने को लेकर साफ इंकार कर दिया. पीड़ित भाइयों की ओर से दर्ज करवाई रिपोर्ट के अनुसार मेघवाल समाज के पंच उदाराम मेघवाल, पुरखाराम मेघवाल, प्रभुराम मेघवाल सहित समाज के 32 जातीय पंचों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.