close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: चार फीट पर झूल रहे थे बिजली के तार, करंट लगने से गोल्ड मेडिलिस्ट की हुई मौत

सेफरागुवार के कब्रिस्तान में साफ सफाई और तारबंदी का काम किया जा रहा था. कब्रिस्तान से होकर 11000 केवी लाइन गुजर रही थी. 

राजस्थान: चार फीट पर झूल रहे थे बिजली के तार, करंट लगने से गोल्ड मेडिलिस्ट की हुई मौत
मृतक फैसल अली बडगूजर ने पिछले साल जयपुर में हुई किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता था.

खेतड़ी: झुंझुनूं जिले के खेतड़ी में एक गोल्ड मेडलिस्ट युवा खिलाड़ी फैसल अली की करंट लगने से मौत हो गई. वह गांव वालों के साथ कब्रिस्तान में सफाई के लिए श्रमदान कर रहा था. इसी दौरान वहां जमीन से महज 4 फीट ऊपर से निकल रही 11 हजार केवी बिजली की लाइन से छू गया. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. 

आपको बता दें, फेसल को रविवार को ही चंडीगढ़ में होने वाली किक बॉक्सिंग की नेशनल लेवल की प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए रवाना होना था लेकिन ऊपर वाले को यह मंजूर नहीं था. उसे रविवार को इसी कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक किया गया. ग्रामीणों ने बताया कि सेफरागुवार के युवा रविवार सुबह गांव की कब्रिस्तान में साफ सफाई कर रहे थे. 

फैसल भी उनके साथ श्रमदान करने में उत्साह से भाग ले रहा था. फैसल एक बबूल के नीचे से कचरा उठाकर आगे बढ़ रहा था कि उसी पेड़ में से होकर 4 फीट ऊंचाई पर निकल रहे 11 हजार केवी के तार की चपेट में आ गया. वहां श्रमदान कर रहे अन्य युवा उसे तत्काल पास के अस्पताल में ले गए. जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

जमीन से महज 4 फीट ऊंचाई पर थे 11 हजार केवी बिजली के तार
सेफरागुवार के कब्रिस्तान में साफ सफाई और तारबंदी का काम किया जा रहा था. कब्रिस्तान से होकर 11000 केवी लाइन गुजर रही थी. इसके तार लगभग 4 फीट की ऊंचाई पर ही थे और घना बबूल होने से दिखाई नहीं दे रहे थे. उनकी चपेट में फैसल आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. वहां मौजूद युवकों ने सरपंच को फोन किया. सरपंच ने बिजली सप्लाई बंद कराई लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुका था.

किक बॉक्सिंग में जीता था स्वर्ण पदक
मृतक फैसल अली बडगूजर प्रतिभाशाली खिलाड़ी था उसने पिछले साल जयपुर में हुई 15 वर्षीय आयु वर्ग में किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर खेतड़ी का नाम रोशन किया था. फैसल के एक बड़े भाई शोएब हैं जो 12वीं में है तथा एक बहन सबा 9वी में पढ़ रही है. फैसल के पिता विदेश में रहकर नौकरी कर रहे हैं.

लापरवाही की होगी जांच
बिजली विभाग की लापरवाही के चलते जहां खेतड़ी ने एक गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ी को खोया है. वहीं सेफरागुवार ने अपने एक बेटे को भी खो दिया. इस हादसे में कौन जिम्मेदार है इसकी भी अब जांच की जाएगी. डिस्कॉम के बबाई कार्यालय के एइन रमेश कुमार जांगिड़ ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है. हादसे की जांच के बाद ही वजह सामने आ पाएगी और लापरवाह पर प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी.