राजस्थान: लोकसभा अध्यक्ष कोटा को बनाएंगे कुपोषण मुक्त, लिया यह संकल्प

इस अभियान के जरिए गर्भवती महिलाओं की सेहत का पूरा ध्यान रखा जाएगा ताकि उनसे होने वाली संतान कुपोषित नहीं हो.

राजस्थान: लोकसभा अध्यक्ष कोटा को बनाएंगे कुपोषण मुक्त, लिया यह संकल्प
डॉक्टर की टीम 3 हजार महिलाओं का चैकअप कर उन्हें परामर्श देगी.

कोटा: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कोटा को कुपोषण मुक्त बनाने का संकल्प लिया है. इस मुद्दे पर ओम बिरला ने मीडिया से बात करते हुए एक बार फिर कुपोषण मुक्त कोटा संकल्प अभियान की चर्चा की. साथ ही उन्होने कहा कि नए वर्ष की शुरूआत के साथ ही जनसहयोग से एक हजार गर्भवती महिलाओं का चयनकर उन्हें 9 महीने तक पौष्टिक भोजन और मेडिकल चेकअप करवाया जाएगा. 

इस अभियान के जरिए उन सभी गर्भवती महिलाओं की सेहत का पूरा ध्यान रखा जाएगा ताकि उनसे होने वाली संतान कुपोषित नहीं हो. बता दें कि, लोकसभा स्पीकर बनने के बाद ओम बिरला ने कोटा को कुपोषण मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा था. वहीं, इसको लेकर बिरला ने समाज के भामाशाहों की जिम्मेदारी बताते हुए कहा कि समाज के पिछडे़ और कमजोर तबके की मदद के लिऐ सबको आगे आगे आना चाहिए, ये सबका नैतिक दायित्व भी है.

महिलाओं के लिए होगी 50 डॉक्टर की टीम 
इसको लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी है. इसमें 50 से ज़्यादा डॉक्टर की टीम रहेगी वो 3 हजार महिलाओं का चैकअप कर उन्हें परामर्श करेगी. महिलाओं के चैक अप के बाद कुपोषित महिलाओं का चयन किया जाएगा. उसके बाद उन महिलाओं का चिकित्सकीय कार्ड बनाया जाएगा. 

इसके बाद उसी हिसाब से उन महिलाओं को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए खुराक दी जाएगी. जिससे उनका कुपोषण दूर होगा. जिससे उनका होना वाला बच्चा भी कुपोषण मुक्त और स्वस्थ होगा. उन्हें मुक्त चिकित्सा सुविधा के साथ संतुलित भोजन के लिए सामग्री उपलब्ध करवाई जाएगी.

इसी महीने लगेगा महिलाओं के लिए शिविर 
कोटा में इसी महीने महिलाओं के लिए शिविर लगाया जाएगा. जिसमें 3 हज़ार महिलाओं का मेडिकल चैकअप होगा. कैम्प के ज़रिए सभी महिलाओं की शारीरिक जांच होगी. महिलाओं के लिए होने जा रहा ये मेडिकल केम्प लिम्का बुक ओफ वर्ल्ड रिकोर्ड में भी दर्ज हो सकती है.