राजस्थान: भारी बारिश से लूनी नदी का जलस्तर बढ़ा, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

पानी के कारण समदड़ी सिवाना जाने वाले सड़क मार्ग का संपर्क टूट गया है. हालांकि बहाव तेज होने के कारण प्रशासन ने लोगों सुरक्षा के मद्देनजर बैरीगेट्स लगा दिया है. 

राजस्थान: भारी बारिश से लूनी नदी का जलस्तर बढ़ा, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट
प्रशासन ने बहाव वाले क्षेत्र से लोगों को दूर रहने की हिदायत दी है.

बाड़मेर: प्रदेश में मुसलाधार बारिश से कई संभाग में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है. यहां तक कई जिलों में जलभराव के कारण कई मार्ग बंद कर दिए गए हैं और एहतियात के तौर पर कई स्कूलों में छुट्टी के आदेश भी दिए गए हैं. वहीं प्रदेश की मरु गंगा कही जाने वाली लूनी नदी का पानी में अपने जलस्तर से उपर बह रहा है. लूना नदी का पानी समदड़ी रपट को पार करते हुए बालोतरा की तरफ आगे बढ़ गया है.

वहीं पानी के तेज बहाव को देखने के लिए नदी के दोनों तरफ ग्रामीणों का भीड़ जमा हो गई. वहीं पानी के कारण समदड़ी सिवाना जाने वाले सड़क मार्ग का संपर्क टूट गया है. हालांकि बहाव तेज होने के कारण प्रशासन ने लोगों सुरक्षा के मद्देनजर बैरीगेट्स लगा दिया है. बता दें कि समदड़ी 15 दिनों पहले हुई बारिश से लूनी नदी में पानी की आवक बढ़ते हुए समदड़ी रपट के पास आकर रुक गई थी, लेकिन हाल ही में 3 दिनों से लगातार हो रही पाली जिले में बारिश के बाद स्तर पड़े लूनी नदी के पानी में हलचल तेज हो गई. तीव्र गति से बढ़ते हुए पानी ने देर रात समदड़ी रपट को पार करते हुए बालोतरा की ओर प्रस्थान किया. वहीं पानी की आवक तेज होने के कारण कल रात से ही प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट नजर आया.

वहीं नदी के जलस्तर को देखते हुए प्रशासन ने बहाव वाले क्षेत्र से लोगों को दूर रहने की हिदायत दी है. वहीं पानी के रपट पार करने से पहले ही रात्रि 5:00 बजे प्रशासन ने दोनों तरफ पुलिसकर्मी तैनात करके सिवाना से समदड़ी जाने वाले सड़क मार्ग को बंद कर दिया था. नदी के आने की जैसे जैसे लोगों को खबर मिल रही है वैसे-वैसे लोगों का हुजूम नदी किनारे इकट्ठा हो रहा है. गौरतलब है कि बांडी नदी भी उफान पर है, बांडी नदी का पानी भी इसी लूनी नदी में मिलता है, जिसके चलते पानी का वेग और तेज होने की संभावना बनी हुई है.

साथ ही मलारना डूंगर उपखंड के मलारना स्टेशन ओलवाड़ा, सवाई माधोपुर मार्ग पर बनास नदी में उफान के चलते मलारना स्टेशन का संपर्क सवाई माधोपुर ओलवाड़ा और श्यामपुरा से कट गया. ऊपरी इलाकों में तेज बारिश और क्षेत्र में 2 दिन से हो रही लगातार बारिश से बनास नदी में जलस्तर बढ़ रहा है. 

मलारना स्टेशन और सवाई माधोपुर के बीच ओलवाड़ा के पास बनास नदी के पुल पर लगातार जलस्तर बढ़ने से पुल पर करीब 2 फीट पानी चल रहा है. जिससे आवागमन पूरी तरह ठप हो गया. हालांकी लोग जान जोखिम में डालकर पानी के तेज बहाव से बनास पुल से निकल रहे हैं. ऐसे में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. मजे की बात यह है कि पुलिस और प्रशासन की तरफ से बनास पुल पर किसी भी तरह के इंतजाम नहीं किए गए.