राजस्थान: आरक्षित कृषि भूमि को अब नहीं खरीद सकेंगे अन्य राज्य के SC कोटे के लोग

राजस्थान राजस्व मंडल ने सुंदर बनाम सुलक्षणा मामले में सुनवाई के दौरान पेश किये गये राज्य सरकार के विभिन्न नोटिफिकेशन के प्रकाश में अपना फैसला सुनाया. 

राजस्थान: आरक्षित कृषि भूमि को अब नहीं खरीद सकेंगे अन्य राज्य के SC कोटे के लोग

मनवीर सिंह, अजमेर: प्रदेश में अनुसूचित जाती वर्ग के काश्तकारों के हितों को संरक्षित करते हुए राजस्थान राजस्व मंडल ने एक अहम फैसला सुनाया है. इस फैसले के बाद अब राजस्थान के एससी वर्ग की कृषि भूमि को अन्य राज्यों के एससी वर्ग के ही किसान भी नहीं खरीद पाएंगे. यह महत्वपूर्ण फैसला राजस्व मंडल अध्यक्ष मुकेश शर्मा और एसडीएस मनोज कुमार नाग की खंडपीठ ने सुनाया है.

राजस्थान में एससी वर्ग के किसानों की जमीन को दबंगो से बचाने के लिए राजस्थान सरकार ने कई कानून बनाए हैं लेकिन पिछले लम्बे समय से राजस्थान में एससी वर्ग के गरीब किसानो की जमीनों को अन्य राज्यों के सम्पन्न एससी वर्ग के ही लोगों द्वारा खरीदा जा रहा था लेकिन राजस्थान में अब ऐसा नहीं हो पाएगा. इस मामले में राजस्थान राजस्व मंडल ने एक अहम फैसला सुनाते हुए राजस्थान के एससी वेग की जमीनों को अन्य राज्यों के एससी वर्ग के लोगों द्वारा ही खरीद पर पाबंदी लगा दी गई है. खंडपीठ ने यह फैसला भरतपुर की कामा तहसील के गांव नौगांवा से जुड़े एक मामले में सुनाया है. 

राजस्थान राजस्व मंडल ने सुंदर बनाम सुलक्षणा मामले में सुनवाई के दौरान पेश किये गये राज्य सरकार के विभिन्न नोटिफिकेशन के प्रकाश में अपना फैसला सुनाया. अदालत ने माना कि राज्य सरकार द्वारा 2 नवम्बर 2009 को राजस्थान कास्तकारी अधिनियम 1955 की धारा 42 के स्कोप को विस्तार देते हुए अधिसूचना जारी की थी. इस अधिसूचना में अन्य राज्यों के एससी वर्ग के व्यक्तियों द्वारा राजस्थान में एससी वर्ग की कृषि भूमि की खरीद फरोख्त पर रोक लगाई गयी थी और इसे गैरकानूनी माना था. बावजूद इसके राजस्थान में एसी वर्ग की जमीनों की गैरकानूनी खरीद अन्य राज्यों के एससी वर्ग द्वारा की जा रही थी. 

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में एससी वर्ग की कृषि जमीनों की सामान्य वर्ग द्वारा खरीद को राज्य सरकार ने गैरकानूनी करार दिया था. इसका उद्देश्य मात्र इतना था कि एससी वर्ग की जमीनों को दबंगो से बचाया जा सके. इसी कानून के प्रकाश में ही नया फैसला सुनाते हुए अन्य राज्यों के एससी वर्ग के लोगों को भी अब राजस्थान राजस्व मंडल ने सामान्य वर्ग का माना है.