close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: धरने पर बैठे छात्रों पर चला नियमों का ठंठा, पुलिस ने जबरन उठाया

नई सरकार बनने के साथ ही चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति की उम्मीद जगी थी. सभी से मुलाकात भी की गई लेकिन मिला सिर्फ आश्वासन. 

राजस्थान: धरने पर बैठे छात्रों पर चला नियमों का ठंठा, पुलिस ने जबरन उठाया
नई सरकार बनने के साथ ही RAS परीक्षा में चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति की उम्मीद जगी थी.

जयपुर/ ललित कुमार: आरएएस भर्ती परीक्षा 2016 में नियुक्ति की मांग को लेकर एक सप्ताह से चल रहे धरने में गुरुवार को नया मोड़ आया है. धरने की कहीं अनुमति नहीं मिलने के बाद करीब 75 से ज्यादा चयनित अभ्यर्थी, महेश नगर में एक मैरिज गार्डन में प्रतिदिन 10 हजार रुपये का किराया देकर धरना दे रहे थे लेकिन देर रात पुलिस ने धरना स्थल पर पहुंचकर अभ्यर्थियों को मैरिज गार्डन से ये कहकर बाहर निकाल दिया की धरने को लेकर अनुमति नहीं है. जिसके बाद बड़ी संख्या में चयनित अभ्यर्थी धरना स्थल पर पहुंचे और आक्रोश जताने लगे. अभ्यर्थियों ने आरोप लगाया कि दो सालों से नियुक्ति का इंतजार रहे हैं लेकिन नियुक्ति देने की बजाय प्रशासन हक की आवाज को दबाने की कोशिश कर रहा है.

725 पदों पर निकाली थी भर्ती
2016 में आरएएस के 725 पदों पर निकाली गई भर्ती को आज भी नियुक्ति का इंतजार है. करीब 15 महीनों से ज्यादा का वक्त हो चुका है सभी प्रक्रिया पूरी हुए लेकिन उसके बाद भी इन 725 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं दी जा सकी है. इसके साथ ही नियुक्ति की मांग को लेकर सैकड़ों बार चयनित अभ्यर्थी मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री और प्रशासन से लेकर मुख्य सचिव तक गुहार लगा चुके हैं लेकिन अभी तक भी कोई समाधान नहीं हो सका है. नियुक्ति की मांग को लेकर समय-समय पर आंदोलन भी किए गए लेकिन नतीजे वो ही रहे जो चले आ रहे थे.

10 हजार रुपये किराए पर जगह लेकर दे रहे थे धरना
नई सरकार बनने के साथ ही चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति की उम्मीद जगी थी. सभी से मुलाकात भी की गई लेकिन मिला सिर्फ आश्वासन. ऐसे में चयनित अभ्यर्थियों ने फिर से आंदोलन की राह चुनी और महेश नगर के एक विवाह स्थल में किराए पर जगह लेकर अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया लेकिन बीती रात पुलिस प्रशासन ने धरना दे रहे चयनित अभ्यर्थियों को विवाह स्थल से बाहर निकालकर वहां भी ताला लगा दिया. जिससे अब इन चयनित अभ्यर्थियों में काफी आक्रोश व्याप्त हो गया है.

मानसिक प्रताड़ना से ग्रस्त होने लगे आरएएस चयनित अभ्यर्थी
बहरहाल, 15 महीनों से ज्यादा का समय हो चुका है लेकिन अभी तक नियुक्ति का इंतजार है. ऐसे में आर्थिक के साथ ही ये चयनित अभ्यर्थी मानसिक तनाव की स्थिति से गुजरने लगे हैं. साथ ही सरकार को भी इन चयनित अभ्यर्थियों ने चेतावनी दे दी है की अगर जल्द नियुक्ति नहीं मिली तो एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा.