राजस्थान: सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने वालों की खैर नहीं, पुलिस ने उठाया यह कदम

अब सोशल मीडिया पर एक गलत मैसेज आपको भारी पड़ सकता है. इसी को लेकर पुलिस विभाग ने बीकानेर के अभय कमांड सेंटर पर एक खास विंग का गठन किया है

राजस्थान: सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने वालों की खैर नहीं, पुलिस ने उठाया यह कदम
पुलिस की टीम इसके लिए शिफ्ट में 24 घंटे काम करेगी.

रौनक व्यास/बीकानेर: राजस्थान (Rajasthan) में पिछले लम्बे समय से कानून व्यवस्था पर उठ रहे सवालों के बाद अब पुलिस पुरी तरह से अलर्ट मोड़ मे नज़र आ रही है. जहां पुलिस ने सोशल मीडिया सिस्टम के जरिए हर शख़्स से जुड़ने की तैयारी कर ली है. वहीं, बीकानेर में पुलिस ने एक खास स्पेशल विंग का गठन किया है ताकि कानून व्यवस्था बिगाड़ने वाले लोगों पर पैनी नजर बनाई जा सके.

खबर के मुताबिक अब सोशल मीडिया (social media) पर एक गलत मैसेज आपको भारी पड़ सकता है. इसी को लेकर पुलिस विभाग ने बीकानेर के अभय कमांड सेंटर पर एक खास विंग का गठन किया है, जो social media पर पैनी नज़र रखेगा. साथ ही एक-एक अफवाह फैलाने वाले मैसेज से लेकर किसी भी आपत्तिजनक क्रियाकलापो पर नजर रखेगा. विभाग ने इसके लिए एक टीम बनाई है जो शिफ्ट में 24 घंटे काम करेगी.

पुलिस विभाग पहले ही एक एसओएस राजस्थान एप्प जारी कर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर काम शुरू कर चुका है. वहीं, अब सोशल मीडिया (social media) को लेकर सजग नज़र आ रहा है. हम आपको जानकारी दे की पुलिस विभाग ने एक खास हेल्पलाइन नम्बर और एक पोस्टर जारी किया है, जिसमें पुलिस सहायता पर 100, महिला हेल्पलाइन पर 1090 और एक वाट्सएप नम्बर 8764852595 नम्बर जारी किया है. जिस पर कोई भी पुलिस को तत्काल बुलाने के लिए मैसेज कर सकता है. 

इस सिस्टम से लोगों को जोड़ने की भी कवायद की जा रही है. समाजिक संस्थाओं से जुड़े लोगों और महिलाओं को इसके बारे में अभय कमांड में बुलवाकर विजिट कराया जा रहा है. ताकि जनता तक इसकी जानकारी पहुंचे. हालांकि, पुलिस की यह पहल सराहनीय है, लेकिन ज़रूरी है की इस सिस्टम को उसी रूप में काम करने की जिस रूप में इसे तैयार किया गया है.