close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धार्मिक नेताओं पर लगे आरोप, तो परेशान होकर महंत ने काटा अपना लिंग

मंधान थाने के प्रभारी राम किशन ने 16 जून को बताया कि सेवा वाली सेवागिरि धाम के महंत अनिल पुरोहित कथित तौर पर विभिन्न धार्मिक नेताओं के खिलाफ लगाए गए आरोपों और बयानों से कथित तौर पर परेशान थे.

धार्मिक नेताओं पर लगे आरोप, तो परेशान होकर महंत ने काटा अपना लिंग
महंत को इलाज के लिए जयपुर रेफर किया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: विभिन्न धार्मिक नेताओं के खिलाफ आरोपों और बयान से परेशान 40 वर्षीय एक महंत ने कथित तौर पर अपना लिंग काट लिया. मंधान थाने के प्रभारी राम किशन ने शनिवार (16 जून) को बताया कि सेवा वाली सेवागिरि धाम के महंत अनिल पुरोहित कथित तौर पर विभिन्न धार्मिक नेताओं के खिलाफ लगाए गए आरोपों और बयानों से कथित तौर पर परेशान थे. महंत ने शुक्रवार देर रात अपने कमरे में अपना लिंग कथित तौर पर काट लिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि महंत के अनुयायी उन्हें एक अस्पताल ले गये जहां से उन्हें इलाज के लिए जयपुर रेफर कर दिया गया. उन्होंने बताया कि महंत का जयपुर में उपचार चल रहा है और उनका बयान दर्ज किया गया है.

पुलिस बलात्कार के आरोपी दाती महाराज के आश्रम गई
वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस की एक टीम बीते शनिवार (16 जून) को एक शिष्या के साथ बलात्कार करने के आरोपी स्वयंभू बाबा दाती महाराज के राजस्थान स्थित एक आश्रम में गई. टीम के साथ बलात्कार पीड़िता भी थी. टीम को दाती महाराज पाली स्थित आश्रम में नहीं मिला था. उन्होंने कहा कि टीम ने पीड़िता के आरोपों की पुष्टि के लिए आश्रम का निरीक्षण किया. महिला ने गत रविवार (10 जून) को दक्षिण दिल्ली में फतेहपुर बेरी पुलिस थाने में दाती महाराज के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थीं. इसके बाद यह मामला अपराध शाखा को स्थानांतरित कर दिया गया था.

महिला ने आरोप लगाया है कि दाती महाराज के दिल्ली और राजस्थान स्थित आश्रमों में उसका यौन उत्पीड़न किया गया और उसने अपनी शिकायत में स्वयंभू बाबा के दो पुरुष शिष्यों के भी नाम लिये. दिल्ली महिला आयोग ने हाल में दाती महाराज को गिरफ्तार किये जाने की मांग की थी. इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने दाती महाराज के खिलाफ एक लुकआउट सर्कुलर जारी किया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वह देश छोड़कर नहीं जा पाये.

महिला ने पुलिस को बताया कि वह एक दशक से दाती महाराज की एक शिष्या थी, लेकिन उसके साथ बलात्कार किये जाने के बाद वह राजस्थान में अपने घर लौट गई थी. दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि अपराध शाखा की एक टीम सबूत इकट्टा करने के लिए शनिवार (16 जून) को राजस्थान में दाती महाराज के आश्रम में गई थी.