close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: रेलवे अंडर ब्रिज ने बढ़ाई लोगों की परेशानी, बारिश में पानी का भराव है वजह

रेलवे अधिकारीयो का कहना है कि सभी अंडर ब्रिज में पानी को सोखने के लिए ग्राउंड लेवल तक पाइप डाले गए हैं लेकिन इस बात से भी इन्कार नहीं किया जा सकता कि तेज बारिश में उनकी क्षमता नहीं के बराबर होती है. 

राजस्थान: रेलवे अंडर ब्रिज ने बढ़ाई लोगों की परेशानी, बारिश में पानी का भराव है वजह

बीकानेर: रेलवे फाटक की समस्या से समाधान दिलाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए रेलव अंडर ब्रिज सुविधा की बजाए दुविधाजनक बनते जा रहे हैं. खासकर बारिश के मौसम में यह आफत बन जाते हैं. रेल लाइनों के नीचे बने अंडर ब्रिज में बारिश की पानी इकट्ठा हो जाने से आवागमन को पूरी तरह ठप हो जाता है. यह स्थिति पानी निकासी की माकूल व्यवस्था नहीं हो होने कारण हो रही है. 

ग्रामीण क्षेत्रों में बने रेलवे ट्रैक पर सुगम राह के लिए जब अंडर ब्रिज बना था तो ग्रामीणों ने राहत की सांस ली थी लेकिन उस वक्त उन्होंने यह नहीं सोचा था कि आने वाले वक्त में उन्हें कितनी परेशानी का सामना करना होगा. बारिश के दिनों में इस अंडर ब्रिज में पानी भर जाने के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 

रेलवे अधिकारीयो का कहना है कि सभी अंडर ब्रिज में पानी को सोखने के लिए ग्राउंड लेवल तक पाइप डाले गए हैं लेकिन इस बात से भी इन्कार नहीं किया जा सकता कि तेज बारिश में उनकी क्षमता नहीं के बराबर होती है. इसके लिए एक एजेंसी को काम दिया गया जो सूचना मिलने पर पम्पिंग की सहायता से पानी निकालते हैं. वहीं कई स्थानों पर सार्वजनिक विभाग ने पानी की निकासी के लिए बोरवेल भी बनाए लेकिन देख रेख के आभाव में वो नकारा साबित हो रहे हैं.

रेलवे अधिकारी चाहे कितने भी सुरक्षा के दावे क्यों न करते हों लेकिन हकीकत साफ है. साथ ही कई दिनों तक कीचड़ रहने से अंडर ब्रिज की दीवारों में आने वाली सीलन कहीं न कहीं किसी बड़े हादसे का संकेत भी दे रही है. रेलवे प्रशासन मानसून के समय अगर पहले ही सतर्क हो जाए तो शायद ही ये भयावह नजारा हो.