close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: 12वीं स्टेट ओपन का रिजल्ट हुआ जारी, लड़कियों ने फिर बाजी मारी

पुरुष परीक्षार्थियों का 30.18 फीसदी रहा. मार्च-मई 2019 में 12वीं स्टेट ओपन का परिणाम 34.82 फीसदी रहा.

राजस्थान: 12वीं स्टेट ओपन का रिजल्ट हुआ जारी, लड़कियों ने फिर बाजी मारी
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: 12वीं स्टेट ओपन का परिणाम आज जारी किया गया. इस साल मार्च-मई की परीक्षा में महिला वर्ग में 29 हजार 888 परीक्षार्थी रजिस्ट्रेड थी. जिसमें से 29 हजार 804 महिला परीक्षार्थी पास हुईं. महिला परीक्षार्थी का पास फीसदी 39.63 फीसदी रहा तो वहीं 31 हजार 293 फीसदी पुरुष परीक्षार्थी रजिस्ट्रेड थे. जिनमें से 30 हजार 905 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए. जिसमें से 9 हजार 328 पुरुष परीक्षार्थी पास हुए. पुरुष परीक्षार्थियों का 30.18 फीसदी रहा. मार्च-मई 2019 में 12वीं स्टेट ओपन का परिणाम 34.82 फीसदी रहा.

वहीं स्ट्रीम-1 में 32.56 फीसदी महिला परीक्षार्थी पास हुईं और 25.24 फीसदी पुरुष परीक्षार्थी पास हुए. स्ट्रीम-1 में 28.71 फीसदी परिणाम रहा तो पूरक परीक्षा का परिणाम 61.97 फीसदी रहा. शिक्षा मंत्री ने बताया कि टॉप करने वाले छात्र-छात्रा को मीरा और एकलव्य पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. जिसमें प्रशस्ति पत्र सहित 21 हजार रुपये नकद दिए जाएंगे. इसके साथ ही शिक्षा मंत्री ने कहा कि जो विद्यार्थी पास नहीं हो पाए हैं वो अगली साल कड़ी मेहनत करें.

परिणाम जारी करने के बाद शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने पिछली सरकार में किए गए कार्यों पर जमकर निशाना साधा. चाहे किताबों में बदलाव हो या फिर शिक्षकों के तबादले इन सबको लेकर डोटासरा ने आरएसएस और बीजेपी पर मिलीभगत का आरोप लगाया. इसके साथ ही डोटासरा ने कहा कि पिछली सरकार के दौरान सामाजिक उपयोगी की 4 पुस्तकें चलाई गई थी जिनको रोक लिया गया है, क्योंकि इन पुस्तकों में सिर्फ बीजेपी सरकार की उपलब्धियों का बखान किया था.