close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान रोडवेज की बस स्टैंड को स्वच्छ रखने की पहल, शुरू की यह खास योजना

रोडवेज के प्रदेशभर के बस स्टैंडों पर हरियाली बढ़ाने के लिए खाली जगह पर किसी की याद में पौधारोपण की शुरूआत की है. 

राजस्थान रोडवेज की बस स्टैंड को स्वच्छ रखने की पहल, शुरू की यह खास योजना
फाइल फोटो

जयपुर/ दामोदर प्रसाद: राजस्थान रोडवेज के बस स्टैंड यात्रियों को अब बदले बदले नजर आएंगे. सभी सुविधाएं बस स्टैंड पर यात्रियों को मिलेगी. इसके लिए रोडवेज विभाग ने अपना परिसर योजना का शुभारंभ किया है. इस योजना के तहत जैसे हम अपने घर को साफ सुथरा रखते है वैसे ही बस स्टैंड को कर्मचारी श्रमदान कर स्वच्छ बनाएंगे. 

रोडवेज के बस स्टैंड मैनेजर और डिपो मैनेजरों ने श्रमदान के माध्यम से सफाई करना शुरू कर दिया है. पहले बस स्टैंड सफाईकर्मी के भरोसे ही रहता था जब तक सफाईकर्मी नहीं आता था तब तक बस स्टैंडों पर गंदगी नजर आती थी लेकिन अब चालक-परिचालक मिलकर बस स्टैंडों पर श्रमदान के माध्यम से सफाई कर स्वच्छता का संदेश देंगे.

राजस्थान रोडवेज एमडी शुची शर्मा ने बस स्टैंडों पर महिलाओं के लिए बेबी फीडिंग कक्ष बनाने के लिए भी पहल की है क्योंकि दूर दराज यात्रा पर जाने के लिए बस के इंतजार में बैठें यात्रियों में महिला यात्री के लिए बच्चे को दूध पिलाने के लिए सुरक्षित जगह नहीं होने से असुविधाओं का सामना करना पड़ता था. इसे रोडवेज विभाग ने गंभीरता से लेते हुए महिलाओं के लिए बेबी फीडिंग रूम की व्यवस्था बस स्टैंड पर जल्द ही मिलेगी. इस पर विभाग ने काम करना शुरू कर दिया है. 

साथ ही रोडवेज के प्रदेशभर के बस स्टैंडों पर हरियाली बढ़ाने के लिए खाली जगह पर किसी की याद में पौधारोपण की शुरूआत की है. जिसकी याद में पौधा लगाया जाएगा उसकी देखरेख का जिम्मा भी उसी व्यक्ति या कर्मचारी का होगा. इसके माध्यम से आने वाले समय में बस स्टैंड हरे भरे नजर आएंगे.

3 से 4 महीने में राजस्थान रोडवेज के बस स्टैंड साफ सुथरे और सुंदर नजर आएंगे. बस स्टैंड आने वाले यात्रियों को स्वच्छ वातावरण, स्वच्छ सुंदर मिलेंगे. इसके साथ ही चालक-परिचालकों के लिए विभाग ने रेस्ट रूम बनाने का निश्चय किया है ताकि रातभर के थके हारे चालक परिचालक बस स्टैंडों पर आराम कर सकें. इसके लिए प्रदेशभर के सभी स्टैंडों पर परीक्षण करवाना शुरू कर दिया है. आने वाले समय में बस स्टैंड पर चालक परिचालक भी रेस्ट रूम में रेस्ट करते नजर आएंगे.