close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: 7 मार्च से शुरू होंगी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं, CCTV की रहेगी निगरानी

परीक्षा में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था करने के भी दिशा निर्देश दिए.

राजस्थान: 7 मार्च से शुरू होंगी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं, CCTV की रहेगी निगरानी
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर/ ललित कुमार: माध्यमिक शिक्षा बोड् की परीक्षाएं 7 मार्च से शुरू होने जा रही है और शिक्षा विभाग इन परीक्षाओं को लेकर पूरी तरह से अपनी कमर कस चुका है. इस साल जहां करीब 20 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने बोर्ड परीक्षाओं के लिए आवेदन किया है तो वहीं प्रदेश में परीक्षा केन्द्रों की संख्या में भी इजाफा किया गया है.10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर बुधवार को शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मीटिंग ली. 

इस मीटिंग में परीक्षा को पारदर्शितापूर्ण करवाने को लेकर शिक्षा मंत्री ने निर्देश दिए. साथ ही इस साल बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाओं में निजी शिक्षक संस्थानों के शिक्षकों को परीक्षक नियुक्त करने के भी मंत्री ने निर्देश दिए. शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने प्रदेश के सभी परीक्षा केन्द्रों के लिए निकट भविष्य में सीसीटीवी कैमरे और वीडियोग्राफी की व्यवस्था करने के भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए. साथ ही परीक्षा में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था करने के भी दिशा निर्देश दिए.

107 अधिक परीक्षा केन्द्र बनाए गए
इस साल 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में कुल 20 लाख 14 हजार 886 परीक्षार्थी परीक्षा के लिए पंजीकृत किए गए हैं. इनमें सीनियर सैकण्डरी परीक्षा में 8 लाख 80 हजार 432, सैकण्डरी परीक्षा में 11 लाख 24 हजार 185, वरिष्ठ उपाध्याय परीक्षा में 3 हजार 345 तथा प्रवेषिका परीक्षा में 6 हजार 924 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे. परीक्षा को लेकर 5 हजार 584 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. पिछले साल के मुकाबले 107 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. सनियर सैकेण्डरी की परीक्षाएं 7 मार्च से 2 अप्रैल तक चलेंगी तो सैकेंडरी की परीक्षाएं 14 मार्च से 28 मार्च तक चलेंगी.  

90 केन्द्रों को संवेदनशील किया घोषित
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में इस साल 59 परीक्षा केन्द्रों को संवेदनशील और 31 परीक्षा केन्द्रों को अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है. नागौर, झुंझनूं, दौसा, करौली, सवाईमाधोपुर, जोधपुर, बाड़मेर जिलों के सभी परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरों और वीडियोग्राफी की शत-प्रतिशत व्यवस्था रखी जाएगी.