close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: जलदाय विभाग ठेकेदारों पर लगाएगा लगाम, नियमों में हुआ फेरबदल

विभाग के मुख्य अभियंता दिनेश कुमार सैनी का कहना है कि पहले यदि काम बीच में बंद हो जाता था तो फिर से नई शर्त पर काम करना होता था.

राजस्थान: जलदाय विभाग ठेकेदारों पर लगाएगा लगाम, नियमों में हुआ फेरबदल
फाइल फोटो

जयपुर: जलदाय विभाग ने ठेकेदारों की मनमर्जी पर लगाम लगाने के लिए सख्त नियम लागू किए है. अब ठेकेदार यदि विकास कार्य बीच में ही छोड़कर चला जाता है तो उस काम को पूरा करवाने के लिए शर्तें पुरानी ही लागू रहेगी. पहले ठेकेदार बदल जाने के बाद सभी शर्ते फिर से लागू होती थी. लेकिन अब निविदाएं आमंत्रित करते वक्त जो नियम लागू किए है,वहीं नियम रहेंगे. यानि अधूरे काम को पूरा करने का दावा दूसरा ठेकेदार करता है तो उसके लिए किसी भी तरह की नई शर्त लागू नहीं होगी. इससे पहले यदि कोई ठेकेदार काम बीच में छोड़कर चला जाता था तो दूसरे ठेकेदार के लिए फिर से नई शर्तों के तहत टेंडर दिया जाता था. जिससे जलदाय विभाग को काम करवाने में काफी परेशानियां होती थी. जिस कारण काम समय पर भी नहीं हो पाता था और गुणवत्ता में भी कमी आती थी.

विभाग के मुख्य अभियंता दिनेश कुमार सैनी का कहना है कि पहले यदि काम बीच में बंद हो जाता था तो फिर से नई शर्त पर काम करना होता था. अब जलदाय विभाग ने कार्यों में गुणवत्ता लाने के लिए सख्त नियम बनाए है, जिससे ठेकेदारों की मनमानी भी रूकेगी और काम भी नहीं अटकेंगे. गौरतलब है कि जलदाय विभाग निविदाओं के जरिए टेंडर निकालकर अपने काम करवाता है. जिसमें ठेकेदार अपनी मनमानी तरीके से काम करते है.नई व्यवस्था से ठेकेदारों की मनमर्जी पर लगाम लगेगी. 

अब नए नियम लागू होने के बाद सभी अधीक्षण अभियंताओं को निर्देश दिए है अब यदि कोई ऐसा मामला सामने आते है तो उसमें पुराने टेंडर की शर्तें ही लागू होगी. गौरतलब है कि पुराने नियमों के तहत ठेकेदार मनमानी करते थे,जिससे जलदाय विभाग को काफी दिक्कतों का सामना करता पड़ता था.