close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: निशुल्क दवा-जांच योजना का दायरा बढ़ाएगी राज्य सरकार

योजना की लोकप्रियता का आलम ये रहा है कि पिछली सरकार के कार्यकाल में भी इसे यथावत रखा गया. हालांकि, इस दौरान योजना के दायरे को बढ़ाने की दिशा में कागजों में काम हुआ

राजस्थान: निशुल्क दवा-जांच योजना का दायरा बढ़ाएगी राज्य सरकार

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा है कि प्रदेश के हर तबके को अच्छी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो. गरीब हो या मध्यम वर्ग या फिर बुजुर्ग, हर किसी को चिकित्सा सुविधा का अधिकार मिले. इस सोच के साथ राजस्थान में गहलोत सरकार ने पिछले कार्यकाल में निशुल्क दवा और जांच योजना शुरू की थी. 

योजना की लोकप्रियता का आलम ये रहा है कि पिछली सरकार के कार्यकाल में भी इसे यथावत रखा गया. हालांकि, इस दौरान योजना के दायरे को बढ़ाने की दिशा में कागजों में काम हुआ, लेकिन अब जैसे ही सूबे के मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत ने फिर से काम संभाला है तो दोनों की योजनाओं को विस्तार देने की दिशा में काम शुरू हो गया है. इसी क्रम में हाल ही में नेशनल हेल्थ मिशन की 2019-20 की पीआईबी में 125 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए हैं. जिसके जरिए अस्पतालों में भर्ती इनडोर मरीजों को सीटी स्कैन की सुविधा फ्री करने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. 

चिकित्सा विभाग ने सीटी स्कैन के अलावा अन्य जांचें भी फ्री केटेगिरी में जोड़ने की प्लानिंग की है. हाल ही में टेक्नीकल एडवाइजरी कमेटी की बैठकों में यह चर्चाएं की गई हैं कि किन-किन बीमारियों की दवाएं और जांच फ्री केटेगिरी में लाई जाए. इस आधार पर एक मसौदा तैयार कर सरकार को भेजा गया है. सूत्रों की माने तो कैंसर, हार्ट और किडनी जैसे गंभीर रोगों से जुड़ी 60 से 80 दवाओं को फ्री मेडिसिन में जोड़ने की योजना है. इसी तरह पीएचसी से लेकर मेडिकल कॉलेजों में जांच योजना का दायरा भी बढ़ाने की कवायद जारी है.