close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: विश्वविद्यालयों में कुलपति की मनमानी को रोकने के लिए बिल लाएगी सरकार: भाटी

कुलपतियों की योग्यता को लेकर समय समय पर सवाल खड़े होते आए हैं लेकिन योग्यता के साथ ही कुलपतियों पर सरकार के नियंत्रण को लेकर भी कई बार सदन में आवाज उठी है. 

राजस्थान: विश्वविद्यालयों में कुलपति की मनमानी को रोकने के लिए बिल लाएगी सरकार: भाटी
भंवर सिंह भाटी ने बताया कि बिल में कुलपतियों पर नियंत्रण के साथ ही अन्य कई बिंदु जोड़े गए हैं. (फाइल फोटो)

जयपुर: प्रदेश में सरकारी विश्व विद्यालयों में कुलपतियों की योग्यता और उन पर सरकार के नियंत्रण को लेकर समय समय पर कई सरकार मंथन कर चुकी है लेकिन अभी तक इसका कोई समाधान नहीं निकल पाया है. कुलपतियों को लगाने और हटाने को लेकर एक निर्धारित एक्ट बना हुआ है. जिसके चलते कुलपतियों पर शिकायत होने के बाद भी सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर पाती है लेकिन वर्तमान सरकार अब एक ऐसा बिल लाने की तैयारी कर रहा है जिसके बाद प्रदेश की सरकारी यूनिवर्सिटीज के कुलपतियों पर सरकार का सीधा नियंत्रण होगा.

कुलपतियों की योग्यता को लेकर समय समय पर सवाल खड़े होते आए हैं लेकिन योग्यता के साथ ही कुलपतियों पर सरकार के नियंत्रण को लेकर भी कई बार सदन में आवाज उठी है. वर्तमान सरकार की ओर से अब इन कुलपतियों पर नियंत्रण को लेकर जो बिल सदन में लाया जा रहा है अगर उस बिल को मंजूरी मिलती है तो बहुत जल्द प्रदेश की सरकारी यूनिवर्सिटीज के कुपतियों पर नियंत्रण का अधिकार प्राप्त कर सकती है.

बिल को लेकर उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि "कुलपतियों को लेकर कई बार अनियमित्ता सहित कई शिकायत मिलती आई हैं लेकिन आज तक किसी कुलपति पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है. जिसकी प्रमुख वजह है कुलपतियों का अलग से एक्ट होना और सरकार का उन पर नियंत्रण नहीं होना. प्रदेश की कई यूनिवर्सिटीज में कई बार अनियमित्ता की शिकायत मिलती है. चाहे वो वित्त-संबंधी हो या फिर शिक्षकों और कर्मचारियों की भर्ती से संबंधित शिकायत हो. इन सब शिकायत के बाद भी सरकार चाह कर भी कोई कार्रवाई नहीं कर पाती है क्योंकि कुलपतियों को लेकर एक अलग एक्ट काम करता है. जिसके चलते ये कुलपति सरकार के नियंत्रण में नहीं आते हैं और अगर इस बिल को मंजूरी मिलती है तो अनियमित्ता की जांच का अधिकार तो मिलेगा साथ ही कार्रवाई का भी अधिकार मिल सकेगा."

इसके साथ ही भंवर सिंह भाटी ने बताया कि बिल में कुलपतियों पर नियंत्रण के साथ ही अन्य कई बिंदु जोड़े गए हैं. जिनको अगर मंजूरी मिलती है तो उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधार होगा. भंवर सिंह भाटी ने कहा कि चाहे निजी यूनिवर्सिटी हो या फिर सरकारी यूनिवर्सिटीज सभी के लिए एक निर्धारित मापदंड होना चाहिए और सरकार इसी मापदंड को लेकर प्रयासरत है.

मोहनलाल सुखाड़ियों विश्व विद्यालय में पिछले दिनों कुलपति और रजिस्ट्रार के बीच हुए विवाद के बाद उच्च शिक्षा विभाग ने हस्तक्षेप किया और रजिस्ट्रार को कार्यमुक्त करने के कुलपति के आदेश पर रोक लाई थी. इस मामले पर उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि "किसी भी यूनिवर्सिटी में कुलपति की मनमानी नहीं होनी चाहिए और ये शिक्षा के विपरित है. ऐसे में कुलपति द्वारा की गई कार्रवाई बिल्कुल भी उचित नहीं थी और अगर यूनिवर्सिटी के दो शीर्ष पदों के बीच टकराव होता है तो इसका नुकसान यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को ही होता है."