close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बरार में रंग लाई गांववालों की मेहनत, कानूनी प्रक्रिया से की गई शराब बंदी

विधायक ने कहा कि बरारवासियों की मांग पर जिला कलेक्टर द्वारा 24 जून को सत्यापन तिथि घोषित की गई. जब कि पुर्ववर्ती सरकार द्वारा हजारों महिलाओं और जनता की आवाज को दबा दिया गया था. 

राजस्थान: बरार में रंग लाई गांववालों की मेहनत, कानूनी प्रक्रिया से की गई शराब बंदी
प्रतीकात्मक तस्वीर

राजसमंद: बरार पंचायत में कानूनी प्रक्रिया अपनाकर शराब की दुकानें बंद कराने को लेकर सोमवार को उपखण्ड अधिकारी सुमन सोनल, पीठासीन अधिकारी तहसीलदार उगम सिंह, विकास अधिकारी डा.रमेशचन्द्र मीणा, सीबीईओ भंवर मोहम्मद, एसीबीईओ मन्नालाल भाट, पीईईओ नरेन्द्र सिंह चैहान, ग्राम विकास अधिकारी देवाराम आदि प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में हस्ताक्षरों कर भौतिक सत्यापन किया गया. 

सोमवार अलसुबह से ही शराबबंदी को लेकर महिलाओं और पंचायतवासियों में खासा उत्साह दिखा तथा राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर महिलाओं और आमजनों की रेलमपेल दिखाई दी. सरपंच पंकज सिंह के नेतृत्व में वार्डपंचों आदि ग्रामवासियों की टोलियों ने घर घर जाकर वृद्ध विकलांग और असहाय लोगों को वाहनों की सहायता से सत्यापन स्थल तक पहुंचाया. इस दौरान क्षेत्रिय विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने राजीव गांधी सेवा केन्द्र पहुंचकर हस्ताक्षर सत्यापन प्रक्रिया का निरीक्षण कर प्रशासनिक व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा महिलाओं व आमजनों से रूबरू होकर शराबबंदी अभियान की सराहना की. 

संबोधित करते हुए विधायक ने कहा कि बरारवासियों की मांग पर जिला कलेक्टर द्वारा 24 जून को सत्यापन तिथि घोषित की गई. जब कि पुर्ववर्ती सरकार द्वारा हजारों महिलाओं और जनता की आवाज को दबा दिया गया था. आज शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से सत्यापन प्रक्रिया की जा रही है. लोग बढ़ चढ़ कर भाग ले रहे हैं. खासतौर से महिलाओं के मन की आवाज है. वार्डपंचगणों, नरेगा मेट, श्रमिकों आदि कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं पंचायतवासियों द्वारा एकजुट होकर शराब ठेके हटवाने हेतु तत्परता से कार्य किया गया. 

एक बार फिर कानूनी प्रक्रिया से दुकानें बंद कराने का मौका एवं सफलता मिलने की उम्मीद को लेकर सैंकड़ो महिलाओं ने खुशी व्यक्त की तथा दिनभर महिलाओं एवं आमजन में सत्यापन के परिणामों में सफलता मिलने की खबर सुनने को लेकर बेचैनी दिखी. हर घंटे के अपडेट सुनने को बेताब लोगों की दिनभर राजीवगांधी सेवा केन्द्र पर भारी भीड़ और आवाजाही रही. सत्यापन प्रक्रिया के दौरान दोपहर एक बजे करीब बीस प्रतिशत से अधिक लोगों ने सत्यापन प्रक्रिया में भाग लेकर बरारवासियों की जीत लगभग पक्की कर ली.