राजस्थान: सदन में उठा अल्पसंख्यकों के विकास का मुद्दा, गहलोत सरकार बोली...

मोहम्मद प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा कि मदरसा बोर्ड जिन संस्थाओं को अनुदान देती है, वे स्वअनुदानित होती है. 

राजस्थान: सदन में उठा अल्पसंख्यकों के विकास का मुद्दा, गहलोत सरकार बोली...
मंत्री सालेह मोहम्मद विधानसभा में अल्पसंख्यक समुदाय के विकास पर बयान दिया.

जयपुर: अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री सालेह मोहम्मद ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है.

मोहम्मद प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा कि मदरसा बोर्ड जिन संस्थाओं को अनुदान देती है, वे स्वअनुदानित होती है. कोई भी अल्पसंख्यक समुदाय अगर किसी संस्थान के लिए आवेदन करता है तो स्वतः ही उसे विभाग के द्वारा अनुदान मिल जाता है. 

उन्होंने बताया कि अल्पसंख्यक दर्जा प्राप्त संस्थाओं को भारत सरकार द्वारा संचालित आईडीएमआई एवं मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान द्वारा सहायता अनुदान योजना अन्तर्गत वित्तीय सहायता दिये जाने का प्रावधान है. राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा सभी अल्पसंख्यक समुदायों के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रहीं है.

इससे पहले विधायक किरन माहेश्वरी के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में मोहम्मद ने बताया कि वर्तमान एवं विगत 3 वर्षों में छात्रवृत्ति, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विशेष अध्ययन एवं अन्य योजनाओं में मुस्लिम, सिक्ख, जैन, बौद्ध, पारसी एवं अन्य अल्पसंख्यक धर्मावलम्बियों के 1 लाख 17 हजार 610 विद्यार्थियों को 5 हजार 330.47 लाख रुपये की सहायता दी गई.

उन्होंने राजस्थान अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास सहकारी निगम लिमिटेड द्वारा लाभान्वित अल्पसंख्यक समुदाय (मुस्लिम, सिक्ख, जैन, बौद्ध एवं अन्य अल्पसंख्यक समुदाय) के 4776 व्यक्तियों को वर्तमान व विगत 3 वर्षों में ऋण दिया गया.