close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: हवालात से फरार हुए चोर को पुलिस ने बाजीसर से किया गिरफ्तार

गुरूवार सुबह मुखबीर से सूचना मिली की आरोपी मुकुंदगढ थाने के सांगासी-मांडासी गांव के जौहड़ में डेरा डाल कर रूका हुआ है.

राजस्थान: हवालात से फरार हुए चोर को पुलिस ने बाजीसर से किया गिरफ्तार
फाइल फोटो

झुंझुनूं: खेतड़ी नगर थाने की हवालात से फरार चोरी के आरोपी को पुलिस ने पांचवें दिन गुरूवार को मंडावा थाने के बाजीसर गांव से गिरफ्तार किया. थानाधिकारी किरण सिंह यादव ने बताया कि चार अगस्त की रात को बकरी चोरी के मामले में हवालात में बंद आरोपी ककराना निवासी सांवरमल उर्फ सांवरा बावरियां मौका पाकर हवालात से फरार हो गया था. इस संबंध में पुलिस अधीक्षक गौरव यादव और एएसपी नरेश कुमार मीणा ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएसपी मोहम्मद अयूब के नेतृत्व में तीन टीम गठीत कर आरोपी की तलाश शुरू की. पांचवे दिन पुलिस टीम ने आरोपी को मंडावा थाने के बाजीसर गांव से गिरफ्तार किया.

आरोपी थाने से फरार होकर पुलिस के बचने के लिए बार-बार अपनी जगह बदल रहा था. थानाधिकारी ने बताया कि आरोपी को खेतड़ी नगर, खेतड़ी, सिंघाना, गुढागौडजी, उदयपुरवाटी, चूली की ढाणी, अमरपुरा, ककराना, चंवरा, गुढा बावनी, पंचलगी, नवलगढ, डुमरा, मुकुंदगढ, मंडावा सहित अन्य स्थानों पर बावरियों के डेरो पर तलाश किया गया लेकिन आरोपी कहीं नहीं मिला. गुरूवार सुबह मुखबीर से सूचना मिली की आरोपी मुकुंदगढ थाने के सांगासी-मांडासी गांव के जौहड़ में डेरा डाल कर रूका हुआ है. सूचना पर सुबह टीम के साथ मौके पर पुहंचे तो तब तक आरोपी वहा से निकल चुका था इसी दौरान मुखबीर से फिर इत्तलास मिली की आरोपी मंडावा थाने के बाजीसर गांव के पास अपना डेरा डाला हुआ है. सूचना पर मौके पर पहुंच कर आरोपी सांवरमल उर्फ सांवरा बावरियां को गिरफ्तार कर लिया.

हवालात से फरार हुए आरोपी ने बीलवा मोड़ पर राहगीर युवक से फोन मांगकर ससुराल में रिश्तेदार को फोन कर बीलवा में मोटरसाइकिल मंगवाई. मोटरसाइकिल से ससुराल ककराना पहुंचा. जहां पर कुछ देर रूका, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले वहां से निकल गया.

थाने से फरार होकर आरोपी मोटरसाइकिल से ससुराल कांकरियां पहूचां. जहां पर ससुर ने आरोपी को खर्च करने के लिए सौ रूपये दिए. जिसके बाद आरोपी मैनपुरा बस स्टैण्ड से बस में बैठकर ऊबली के बालाजी चला गया. तथा परिवारजनों को डेरा समेत फोन करके वहां पर बुला लिया. डेरा समेत परिवार जनों के साथ सांगासी-मांडासी पहुचें. वहां पर जौहड़ में डेरा डालकर रात्री में विश्राम किया. सुबह मंड़ावा के बाजीसर के लिए रवाना हो गए दोपहर में परिवार के साथ वहां पर पहुचें. पुलिस ने गुरूवार दोपहर डेढ़ बजे घेराबंदी कर रोही बाजीसर में पकड़ लिया.