close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बार-बार अपने नेता के दल बदलने से नाराज कार्यकर्ता ने की खुदकुशी की कोशिश

ऐसा माना जा रहा है कि रामकिशोर सैनी अब बीजेपी की ओर से बांदीकुई से चुनाव लड़ सकते हैं और इस सीट पर पहले से अपनी दावेदारी की उम्मीद कर रहे भूपेंद्र सैनी को इससे झटका लगा है.

राजस्थान: बार-बार अपने नेता के दल बदलने से नाराज कार्यकर्ता ने की खुदकुशी की कोशिश

जयपुर: राजस्थान में दिसंबर में होने वाले चुनावों को लेकर सियासत दिन पर दिन गर्माती जा रही है. एक ओर जहां 11 नवंबर को बीजेपी द्वारा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के बाद पार्टी में बगावती सुर नजर आने लगे तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस द्वारा भी पहली लिस्ट जारी करते ही पार्टी के बीच की कलह पूरी तरह से सामने आ गई. इसी बीच शुक्रवार को कांग्रेस से नाराज रामकिशोर सैनी ने एक बार फिर बीजेपी ज्वाइन की लेकिन रामकिशोर सैनी के बीजेपी में आने से नाखुश एक कार्यकर्ता ने खुदकुशी की कोशिश की. 

दरअसल, ऐसा माना जा रहा है कि रामकिशोर सैनी अब बीजेपी की ओर से बांदीकुई से चुनाव लड़ सकते हैं और इस सीट पर पहले से अपनी दावेदारी की उम्मीद कर रहे भूपेंद्र सैनी को इससे झटका लगा है. जिस कारण उन्होंने पार्टी के रामकिशोर को वापस बीजेपी का हिस्सा बनाए जाने पर एतराज दर्ज कराया. वहीं पिंटू सैनी के एक समर्थक कार्यकर्ता ने पार्टी के इस कदम से नाराज होकर खुदकुशी की कोशिश की. बीजेपी कार्यालय के बाहर युवक द्वारा आत्महत्या की कोशिश के बाद अशोकनगर पुलिस उसे पकड़ कर ले गई. युवक का नाम लोकेश सैनी बताया जा रहा है. 

पहले बीजेपी में ही थे रामकिशोर
गौरतलब है कि सैनी पहले बीजेपी में ही थे. वह पहले बीजेपी की टिकट से चुनाव जीत चुके है लेकिन 2008 के चुनाव में पार्टी द्वारा सैनी की जगह कांग्रेस से बगावत करके आए शैलेंद्र जोशी को टिकट दे दिया गया था. इस पर सैनी ने नाराज होकर निर्दलीय ही चुनाव लड़ा था और जीत दर्ज की थी. जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस का समर्थन किया और मंत्री बने. 2013 में कांग्रेस ने सैनी को टिकट दिया था लेकिन वह हार गए. जिसके बाद इस बार कांग्रेस ने सैनी का टिकट काटकर जीआर खटाना को दिया है. जिस कारण सैनी एक बार फिर बीजेपी में शामिल हो गए.