close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान विश्वविद्यालय की परीक्षाएं शुरू लेकिन अब तक 2,000 छात्रों को नहीं मिले एडमिट कार्ड

पूरे मामले को लेकर राविवि कुलपति आरके कोठारी ने कहा की इन तीनों कॉलेजों के लम्बे समय से बकाया पैनल्टी जमा करवाने के लिए सूचित किया जा रहा था

राजस्थान विश्वविद्यालय की परीक्षाएं शुरू लेकिन अब तक 2,000 छात्रों को नहीं मिले एडमिट कार्ड
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान विश्व विद्यालय की परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं. प्रवेश पत्र अपलोड कर दिए गए हैं और परीक्षार्थी परीक्षा में जुटे हुए हैं लेकिन इन सबके बीच राजधानी जयपुर के करीब 2 हजार से ज्यादा ऐसे विद्यार्थी हैं जिनको अभी तक प्रवेश पत्र तक नहीं मिले हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इन परीक्षार्थियों के कॉलेजों ने राजस्थान यूनिवर्सिटी में एनओसी की बकाया पैनल्टी अभी तक जमा नहीं करवाई है और इसी के चलते राजस्थान यूनिवर्सिटी ने इन तीनों निजी कॉलेजों के प्रवेश पत्र अपलोड नहीं किए हैं. 

राजधानी जयपुर के तीन निजी कॉलेज परिष्कार कॉलेज, सेंट विल्फ्रेड कॉलेज और स्टेनी मेमोरियल कॉलेज के विद्यार्थियों के प्रवेश पत्र ब्लॉक कर दिए गए थे क्योंकि इन कॉलेजो ने एनओसी की बकाया पैनल्टी अभी तक जमा नहीं की है. ऐसे में सेंट विल्फ्रेड कॉलेज के प्राचार्य सुशील शर्मा ने बताया, यूनिवर्सिटी की ओर से पैनल्टी को लेकर कोई सूचना नहीं दी गई. साथ ही जहां पहला पेपर शुक्रवार को सुबह 7 बजे होना है और गुरुवार को यूनिवर्सिटी पैनल्टी की मांग कर रही है जो 48 लाख से ज्यादा है. साथ ही सुशील शर्मा ने कहा, पैनल्टी कब और कैसे बकाया है इसकी भी विवि जानकारी नहीं दे रहा है.

वहीं दूसरी ओर परिष्कार कॉलेज और स्टेनी मेमॉरियल कॉलेज की पैनल्टी को लेकर भी थोड़ी समस्या आई थी लेकिन अदालती आदेश के बाद स्टेनी मेमोरियल को जहां पैनल्टी का एक तिहाई यानि करीब 20 लाख रुपये और परिष्कार कॉलेज को करीब 30 लाख रुपये का भुगतान करने के बाद मामला शांत हुआ. परिष्कार कॉलेज संचालक राघव प्रकाश ने बताया, अदालती आदेश के बाद परिष्कार कॉलेज ने अपनी पैनल्टी जमा करवा दी थी लेकिन उसके बाद भी विवि ने बकाया निकाल दिया. कुलपति से बात के बाद सभी मामले शांत हो गए हैं और अब परिष्कार कॉलेज के प्रवेश पत्र मिलना शुरू हो चुके हैं.

पूरे मामले को लेकर राविवि कुलपति आरके कोठारी ने कहा की इन तीनों कॉलेजों के लम्बे समय से बकाया पैनल्टी जमा करवाने के लिए सूचित किया जा रहा था लेकिन इनकी ओर से कोई जवाब नहीं आने की वजह से ये कदम उठाना पड़ा. स्टेनी मेमोरियल ने पैनल्टी जमा करवा दी है. वहीं परिष्कार कॉलेज के मामले की जांच करवाई जा रही है. साथ ही सेंट विल्फ्रेड कॉलेज अगर एक तिहाई पैनल्टी की राशि जो करीब 16 लाख रुपये जमा करवा देता है तो उनके प्रवेश पत्र भी जारी कर दिए जाएंगे.