close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: स्कूल के बाहर बच्चा चोरी की सूचना के बाद हंगामा, पूछताछ जारी

जिसके बाद संदेह उत्पन्न होने पर परिजनों में स्कूल प्रबंधन ने उसका पीछा कर उसे आनासागर चौकी पर पकड़ लिया. इसकी सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और उसने दोनों को चौकी में बैठा लिया. 

राजस्थान: स्कूल के बाहर बच्चा चोरी की सूचना के बाद हंगामा, पूछताछ जारी

अजमेर: राजस्थान के अजमेर की 5 सागर रोड स्थित निजी स्कूल के बाहर बच्चा चोरी की सूचना के बाद हंगामा हो गया. प्रदेश से लगातार मिल रही बच्चा चोरी की सूचना के बाद क्षेत्रवासियों में गुस्सा बढ़ गया है. बच्चा चोर समझ कर पकड़े गए पति पत्नी पर लोगों द्वारा हाथ उठाने का प्रयास किया गया लेकिन हंगामे की सूचना पर पुलिस ने पति पत्नी और उनकी गाड़ी को जप्त कर लिया और उन्हें थाने ले आए. जहां उनसे पूछताछ की गई तो पूरा मामला अफवाह में तब्दील हो गया. 

मामले की जानकारी देते हुए गंज थाना प्रभारी जयसिंह ने बताया कि भाई सागर रोड स्थित स्कूल में पढ़ने वाले 4 बच्चों ने अपने परिजनों और शिक्षकों को शिकायत दी थी कि 3 दिन से एक महिला हमारा पीछा कर रही है और फोटो खींचने का प्रयास कर रही है. जिसके बाद स्कूल प्रबंधन और परिजन दोनों मौके पर पहुंचे और महिला से पूछताछ करने का प्रयास किया लेकिन वह वहां से रवाना हो गई. 

जिसके बाद संदेह उत्पन्न होने पर परिजनों में स्कूल प्रबंधन ने उसका पीछा कर उसे आनासागर चौकी पर पकड़ लिया. इसकी सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और उसने दोनों को चौकी में बैठा लिया. बच्चा चोरी की सूचना आग की तरह फैली और चौकी पर सैकड़ों की संख्या में लोगों का जमावड़ा लग गया भीड़ को उग्र होता देख चौकी इंचार्ज प्रीति रत्नों ने बच्चों और आरोपी पति पत्नी को गंज थाने भिजवाया. जहां उपाधीक्षक डॉ. प्रियंका और थाना अधिकारी ने उनसे पूछताछ की तो पूरी घटना का खुलासा हुआ. 

थानाधिकारी जय सिंह ने बताया कि पति पत्नी दोनों प्रतिष्ठित परिवार से हैं और महिला सीआरपीएफ जीसी 2 स्कूल में प्रोफेसर है. उन्होंने बच्चों से घर जाने की बात कही थी. जिससे नाराज बच्चों ने इतना बड़ा बखेड़ा खड़ा कर दिया था. बच्चा चोरी के आरोप में पकड़े गए पति पत्नी पूर्व आईपीएस अधिकारी के रिश्तेदार हैं लेकिन स्थानीय पार्षद स्कूल प्रबंधन को अभी भी दोनों पसंद है. 

पार्षद का कहना है की दोनों लगातार बच्चों का पीछा कर रहे थे और उनके पास बच्चों के कहे अनुसार मोबाइल पर मिला है. जिसका वह इंकार कर रहे थे. पूरे मामले की तफ्तीश के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी कि वो बच्चा चोर हैं या नहीं. जब तक पुलिस उन्हें हिरासत में नहीं ले सकती. फिलहाल पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है पर महिला के दस्तावेज चेक कर बयान दर्ज किए जा रहे हैं.