close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम की लापरवाही, टला बड़ा हादसा

 बिजली विभाग के लापरवाह अधिकारी कभी भी बड़ी दुर्घटना को आमंत्रण दे सकते हैैं

राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम की लापरवाही, टला बड़ा हादसा

जयपुर: बिजली विभाग के लापरवाह अधिकारी कभी भी बड़ी दुर्घटना को आमंत्रण दे सकते हैं. यह हम नहीं कह रहे उनकी कार्यशैली इसे बयां कर रही हैँ. जी हां एक ऐसा ही वाकया 220 केवी जीएसएस मानसरोवर से 132 केवी एसएमएस स्टेडियम जा रही है. हाइटेंशन लाइन के सुपरविजन में हुआ. गनीमत रही की लाइन के तार टूटकर जमीन पर नहीं गिरे वरना बड़ा हादसा संभावित था. पूरे घटना के बाद राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम के अधिकारी घटना को दबाने की कोशिश में हैँ.

बिना पैट्रालिंग की लाइन चार्ज 
इस हादसे ने राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम के अधिकारियों की एक और बड़ी लापरवाही उजागर की हैँ. 220 केवी जीएसएस मानसरोवर से 132 केवी जीएसएस स्टेडियम की तरफ एक हाईटेंशन लाइन जाती है जिसका कंडक्टर बुधवार रात 10:30 बजे टूट गया, जिससे 132 केवी जीएसएस स्टेडियम पर सप्लाई बंद हो गई. लापरवाही यह रही की वहां कार्यरत अधिकारीयो  ने बिना पेट्रोलिंग करवाइए हुए ही लाइन दोबारा चार्ज करवाई, जिससे दोबारा मानसरोवर 220 केवी जीएसएस से सप्लाई चालू की गई और फिर से तेज धमाका हुआ.

धमाका होने से मानसरोवर पर ब्रेकर बंद हो गया. अगर यह कंडक्टर टूटकर पब्लिक के घरों पर गिरा हुआ होता तो भयंकर विद्युत जनहानि होने की संभावना थी जिसको अधिकारियों ने अपनी आंतरिक रिपोर्ट में भी छुपा लिया. विभागीय अधिकारियों के पेट्रालिंग किए बिना इतनी क्षमता की बिजली लाइन को चालु करवाना गंभीर लापरवाही की श्रेणी में हैँ.

अधिकारियों ने गुरुवार सुबह लाइन दुरूस्त करवा कर सप्लाई चालु की. जिस जगह लाइन फॉल्ट हुई उस क्षेत्र में बड़ी संख्या में आवास बने हुए, रिहायशी इलाका होने से हादसे की संभावना बनी हुई थी. विभाग अब इन लापरवाह अधिकारियों पर बड़ा एक्शन ले सकता हैँ.