close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: वोटिंग से पहले लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों का उल्लंघन, प्रत्याशियों ने उड़ाए बैनर

यूनिवर्सिटी कुलपति आरके कोठारी ने बताया कि "मतदान केन्द्र पर सुरक्षा के लिहाज से पुलिसकर्मियों के साथ ही विवि प्रशासन का स्टाफ भी मौजूद रहेगा.

राजस्थान: वोटिंग से पहले लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों का उल्लंघन, प्रत्याशियों ने उड़ाए बैनर

जयपुर: जोधपुर संभाग को छोड़कर पूरे प्रदेश की यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों में छात्रसंघ चुनाव में आज यानी 31 अगस्त को मतदान हुए लेकिन मदतान शुरू होने के ठीक पहले प्रत्याशी लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों का उल्लंघन करते दिखे थे. प्रत्याशियों ने शहरभर में बैनर और पेंपलेट उड़ाए. प्रत्याशियों द्वारा उड़ाए गए पेंपलेट और बैनर सड़कों पर गिरे मिले. आपको बता दें, यह लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों के उल्लंघन की पहली घटना नहीं है. 

इससे पहले भी प्रत्याशियों द्वारा छात्रों को लुभाने के लिए पार्टीज और अलग-अलग तरीकों को अपनाने की खबरें आती रही हैं. वहीं मतदान की बात करें तो यूनिवर्सिटी में मतदान 8 बजे शुरू हुए थे और दोपहर 1 बजे तक मतदान खत्म हो गए. राजस्थान विश्वविद्यालय में होने वाले अपेक्स बॉडी के चुनाव राजनीतिक हलकों में भी काफी छाए रहते हैं, क्योंकि चारों संघटक कॉलेजों और विवि में मिलाकर कुल 22677 छात्र मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.

बता दें, यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से इस साल विद्यार्थियों की आईडी कार्ड में एक खास किस्म का बार कोड दिया गया है और इसको स्कैन करने के लिए विवि प्रशासन ने 8 मशीनें भी मंगवाई है और इन्हीं मशीनों से होकर गुजरने पर ही विद्यार्थियों को कैम्पस में प्रवेश दिया जाएगा.

यूनिवर्सिटी कुलपति आरके कोठारी ने बताया कि "मतदान केन्द्र पर सुरक्षा के लिहाज से पुलिसकर्मियों के साथ ही विवि प्रशासन का स्टाफ भी मौजूद रहेगा. इसी के साथ इस बार मतदान 31 अगस्त को है. लेकिन मतगणना 11 सितम्बर को होनी है. पहले ऐसा होने पर मतपेटियों को तीन स्थानों पर रखा जाता था, लेकिन इस साल सुरक्षा की दृष्टि से राविवि के डीएसडब्ल्यू कार्यालय के दफ्तर में ही सभी मतपेटियों को रखवाया जाएगा"