राजस्थान: आरक्षण पर कौन सच्चा कौन झूठा,मंत्री या ओबीसी आयोग !

राजस्थान में मुस्लिमों को गुर्जर कोटे से आरक्षण देने के सर्वें में नया मोड आ गया है. अब सवाल ये उठ रहा है कि आरक्षण के सर्वे पर कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ.

राजस्थान: आरक्षण पर कौन सच्चा कौन झूठा,मंत्री या ओबीसी आयोग !
मुस्लिमों को गुर्जर कोटे से आरक्षण देने के सर्वें में नया मोड़

आशीष चौहान,जयपुर : राजस्थान में मुस्लिमों को गुर्जर कोटे से आरक्षण देने के सर्वें में नया मोड आ गया है. अब सवाल ये उठ रहा है कि आरक्षण के सर्वे पर कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ. डिप्टी सीएम सचिन पायलट और मंत्री भंवरलाल मेघवाल ने सर्वे की बात से इंकार किया है, लेकिन दूसरी ओर सर्वे की कार्रवाई तो जिला प्रशासन की ओर से जारी है. जी मीडिया के पास सर्वे पर आदेश की एक्सक्लूसिव कॉपी हाथ लगी है.जिसके बाद ये बडे सवाल उठ रहे है कि कौन सच्चा और कौन झूठा !
भरतपुर की वैर पंचायत समिति के बीडीओं ने कलक्टर के निर्देश पर तमाम ग्राम विकास अधिकारियों को पत्र लिखकर मुस्लिम जातियों की रिपोर्ट मांगी थी. लेकिन समय से रिपोर्ट नहीं देने पर ग्राम विकास अधिकारियों को कारण बताओं नोटिस थमाया गया है और दो दिन में रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए. यानि सर्वे की कार्रवाई तो हो रही है. लेकिन दूसरी ओर डिप्टी सीएम सचिन पायलट ये कह रहे है कि किसी भी जाति के कोटे से आरक्षण से छेड़छाड नहीं हो रही है. मुझे लगता नहीं है कि इस तरह का कोई प्रस्ताव नहीं है. इसमें बेवजह परेशान होने की कोई बात नहीं है.
दूसरी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने भी सर्वें की कार्रवाई से पूरी तरह से इंकार कर दिया है. उन्होंने कहा था कि आरक्षण पर किसी भी तरह का सर्वे नहीं हो रहा है. गुर्जरों का एमबीसी आरक्षण पूरी तरह से सुरक्षित है. लेकिन दूसरी ओर ओबीसी आयोग के निर्देश के बाद जिला प्रशासन की कार्रवाई को क्या कहेंगे. क्योकि जिला प्रशासन अफसरों से मुस्लिम जातियों की रिपोर्ट मांग रही है. ऐसे में अब सवाल वहीं कि कौन सच्चा,कौन झूठा ! इसी सर्वें से खफा गुर्जरों ने आंदोलन की चेतावनी दी है. कर्नल किरोडी बैसला ने सरकार को 7 दिन का वक्त दिया था. ऐसे में सरकार से वार्ता नहीं हुई तो एक बार फिर से गुर्जर आंदोलन की घोषणा कर सकते है.