चूरू: कोरोना जागरूकता समीक्षा बैठक में उपनेता प्रतिपक्ष ने अधिकारियों पर साधा निशाना, कहा...

बैठक में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कोरोना जांच को लेकर असंतोष जाहिर किया. उन्होंने कहा कि, जिले में जनसंख्या के अनुपात में कोरोना की जांच बहुत कम हो रही है.  

चूरू: कोरोना जागरूकता समीक्षा बैठक में उपनेता प्रतिपक्ष ने अधिकारियों पर साधा निशाना, कहा...

नरेंद्र राठौड़/चूरू: राजस्थान के चूरू जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट सभागार में रविवार को कोरोना जागरूकता विशेष अभियान पर समीक्षात्मक बैठक प्रभारी सचिव नीरज के पवन ने, जिले के अधिकारियों की ली. इस बैठक में चूरू विधायक व उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ भी मौजूद रहे.

बैठक में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कोरोना जांच को लेकर असंतोष जाहिर किया. उन्होंने कहा कि, जिले में जनसंख्या के अनुपात में कोरोना की जांच बहुत कम हो रही है. सभी तहसीलों में आंकड़ा काफी कम है. साथ ही राठौड़ ने इन दिनों टिड्डी दल के पड़ाव से किसान परेशान हैं. इसको लेकर टिड्डी नियंत्रण विभाग व कृषि विभाग के अधिकारियों को भी जमकर खरी खरी खोटी सुनाई.

उन्होंने कहा कि, टीडी दलों को मारने में दोनों ही विभाग असफल रहे हैं. साथ ही, राठौड़ ने सरदारशहर में पिछले दिनों नसबंदी के दौरान महिला की मौत के मामले को भी उठाया. राठौड़ ने कहा कि, अभी तक इस मामले में दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं हुई है. बिना किसी डॉक्टर के नसबंदी ऑपरेशन एक एनजीओ क्यों करवा रहा था.

उप नेता प्रतिपक्ष ने विद्युत विभाग के अधिकारियों की भी जमकर खिंचाई की औक कहा कि, सप्ताह में 2 दिन विजिलेंस के नाम से तय कर दिए गए हैं और भेदभाव पूर्ण तरीके से भ्रष्टाचार कर विजलेंस भरी जा रही है. इस पर प्रभारी सचिव नरेश नीरज के पवन ने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से कहा कि, वे रोजाना कम से कम 2000 सैंपल कोरोना जांच के लिए अवश्य करवाएं.

इसके साथ ही, उन्होंने चिकित्सा विभाग के अधिकारी सीएमएचओ डॉ भंवरलाल सर्वा को निर्देश दिया है कि, 7 दिन में सरदारशहर में नसबंदी ऑपरेशन के दौरान महिला की मौत के मामले की जांच पूर्ण करें और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें.

इस मौके पर प्रभारी सचिव नीरज के पवन ने टिड्डी दलों के पड़ाव पर नियंत्रण पाने के लिए, कृषि उप निदेशक पीके सैनी व टिड्डी नियंत्रण विभाग के अधिकारियों से कहा कि, वह किसानों को कीटनाशक उपलब्ध करवाएं, जिससे किसान जहां भी टिड्डी दल का पड़ाव हो, वहां छिड़काव कर सकें. इनकी मॉनिटरिंग हल्का पटवारी करेंगे. हल्का पटवारी जहां भी रिपोर्ट देंगे कि, टिड्डी दल पड़ाव कर रहा है वहां किसानों को कीटनाशक उपलब्ध करवाया जाएगा.

उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कृषि विभाग द्वारा टिड्डी दल के पड़ाव पर कीटनाशक छिड़काव के लिए 3 दिन में एक ही फार्म को 70 लाख का टेंडर दिए जाने पर भी सवाल उठाए. उन्होंने  कहा कि, एक पखवाड़े पहले सिर्फ कागजों में टेंडर हो गया. लेकिन टिड्डी दलों को मारने के लिए ट्रैक्टर अभी तक उपलब्ध नहीं हुए हैं. इसमें भी कहीं न कहीं भ्रष्टाचार हुआ है. इसकी भी जांच के लिए नीरज के पवन प्रभारी सचिव ने आश्वासन दिया है.

राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि, प्रभारी सचिव नीरज के पवन की अध्यक्षता में हुई बैठक के अंदर जिले के अंदर कोरोना के अंदर कोरोना सेंटर की बदइंतजामी की बात हमने कही है.  कोरोना सेंटर के अंदर न स्वच्छता है न खाना अच्छा है. नाश्ता खराब मिल रहा है. इसके बाद यह तय किया गया कि, एक प्रभारी से रोजाना खाने की जांच करवाई जाएगी.

उन्होंने कहा कि, कोरोना सैंपल के नाम पर रोजाना कमी होती जा रही है. पूरे सिंपल रेंडम सैंपल करके कोरोना को रोकने की कोशिश की जाएगी. टिड्डी दल को रोकने में जिला प्रशासन पूर्णत विफल रहा है. इस बैठक में तय हुआ कि, जहां टिड्डी का पड़ाव है. वहां पर पटवारी को जिम्मेदारी दी जाएगी और कीटनाशक का छिड़काव किया जाएगा.

उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि, ऐसा लग रहा है की प्रशासन कहीं है ही नहीं. बिजली की समस्या पानी की समस्या प्रशासन के नाम पर संज्ञा शून्य है रुका हुआ प्रशासन है. वहीं, प्रभारी सचिव नीरज के पवन ने कहा कि, क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि, वे रोजाना क्वारेंटाइन सेंटर की जांच करें. साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें अच्छे खाने व नाश्ते की व्यवस्था करें. खाने की रोजाना जांच अवश्य करें. किसी तरह की कोई भी शिकायत नहीं मिलनी चाहिए, इस तरह के निर्देश दिए गए हैं.

प्रभारी सचिव नीरज के पवन ने कहा कि, इन दिनों टिड्डी दलों के अनेक पड़ाव हो रहे हैं. इसको लेकर अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं. चूरु जिले में सुधार की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि पटवारी रेवेन्यू विभाग का है. उसको भी अपराध दिया जाएगा, जहां पर टिड्डी दल पड़ाव डालेगा वहां पर किसानों को कीटनाशक उपलब्ध करवाया जाएगा.