Rajsamand: थाने में दर्ज करवाई FIR तो खाप पंचायत ने बंद किया परिवार का हुक्का पानी

पीड़ित महिला ने बताया कि उसके साथ मारपीट कर गंभीर घायल करने वाले आरोपी मांगीलाल पुत्र चम्पालाल के खिलाफ रेलमगरा थाने में रिपोर्ट दे दी. उसके बाद आरोपी मांगीलाल ने खाप पंचायत बुलाई.

Rajsamand: थाने में दर्ज करवाई FIR तो खाप पंचायत ने बंद किया परिवार का हुक्का पानी
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Rajsamand: सामाजिक कुरीतियों के खात्मे के लिए सख्त कानून लागू कर जन जागरुकता के लिए भी प्रशासन द्वारा कई प्रयास किए जा रहे हैं, मगर आज भी खाप पंचायत (Khap Panchayat) की हुकूमत खत्म नहीं हो रही है. 

यह भी पढ़ें- भारी पड़ा विधवा की मांग में 'शादी का सिंदूर', खाप पंचायत ने सुनाया तालिबानी फरमान

ऐसा ही एक मामला राजसमंद (Rajsamand) जिले के रेलमगरा थाना क्षेत्र के बामनिया कला गांव (Bamniya Kala Village) में सामने आए, जहां एक महिला के साथ मारपीट के आरोप में कतिपय व्यक्ति के खिलाफ रेलमगरा थाने में रिपोर्ट दे दी.

यह भी पढ़ें- Barmer: 2 परिवारों पर टूटा खाप पंचायत का कहर, जाति बाहर कर लगाया सवा 5 लाख का जुर्माना

पीड़ित परिवार का हुक्का-पानी सब बंद
थाने में एफआईआर दर्ज करवाने के विरोध में आरोपी पक्ष ने खाप पंचायत बुलाकर मारपीट की थाने में रिपोर्ट देने वाली महिला और उसके परिवार को ही गांव से बहिष्कृत करने का तुगलकी फरमान जारी करवा दिया. अब न तो पीड़ित परिवार से कोई बोलता है और न ही कोई मदद करता. यहां तक गांव में सार्वजनिक कुएं से पानी भी नहीं भरने देते. पानी टैंकर भी कोई लाता और पीड़ित परिवार को कोई भी मजदूरी पर भी नहीं रख रहे हैं. 

इस तरह परिवार का हुक्का पानी बंद कर दिया, जिसकी पीड़ित परिवार ने सरपंच से भी मदद की गुहार मांगी, मगर कोई सुनवाई नहीं हुई. ऐसे में आहत पीड़ित दम्पती राजसमंद पहुंचा, जहां अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता को ज्ञापन देकर हुक्का पानी बंद कर गांव से बहिष्कृत करने वाले खाप पंचायत के पंचों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

क्या कहना है पीड़ित महिला का
पीड़ित महिला ने बताया कि उसके साथ मारपीट कर गंभीर घायल करने वाले आरोपी मांगीलाल पुत्र चम्पालाल के खिलाफ रेलमगरा थाने में रिपोर्ट दे दी. उसके बाद आरोपी मांगीलाल ने खाप पंचायत बुलाई, जिसमें पूरे गांव के पंच, पटेल व ग्रामीणों के समक्ष उसे भी बुलाया गया, जहां आरोपी मांगीलाल द्वारा थाने में एफआईआर दर्ज कराने का विरोध किया. इसके तहत पंचायत के पंच भैरूलाल एकलिंगजी, रोशनलाल पुत्र भैरूलाल, कन्हैयालाल पुत्र रूपचंद, मांगीलाल पुत्र भूरा कुमावत, उदयलाल पुत्र चम्पालाल द्वारा उसे गांव से बहिष्कृत कर दिया. 

इस पर पीड़ित महिला ने मांगीलाल के साथ सभी पंचों के खिलाफ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को परिवाद दिया. बताया कि खाप पंचायत में उसे बुलाया गया, जहां कतिपय व्यक्ति मांगीलाल पुत्र चम्पालाल द्वारा अश्ली गाली गलोच करते हुए उसे बेइज्जत किया, मगर पंचों ने उसकी एक बात नहीं सुनी. इस तरह पीड़ित महिला और उसका परिवार शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान है.

इधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता ने पूरे मामले की रेलमगरा थाना प्रभारी से तथ्यात्मक रिपोर्ट तलब करते हुए पीड़ित परिवार को राहत दिलाने के निर्देश दिए हैं.

Reporter- Laxman Singh Rathor