Rajsamand: मरीजों को निशुल्क दवा और जांच सुविधाओं का लाभ उपलब्ध करावें- सीएमएचओ
topStories1rajasthan1467955

Rajsamand: मरीजों को निशुल्क दवा और जांच सुविधाओं का लाभ उपलब्ध करावें- सीएमएचओ

अस्पताल में आवश्यक मात्रा में दवाइयों की उपलब्धता के साथ ही जांच उपकरणों के क्रियाशील होना जरूरी है.

Rajsamand: मरीजों को निशुल्क दवा और जांच सुविधाओं का लाभ उपलब्ध करावें- सीएमएचओ

Rajsamand: राजसमंद सीएमएचओ डॉ. प्रकाश चन्द्र शर्मा ने स्वास्थ्य भवन में आयोजित मुख्यमंत्री निशुल्क निरोगी राजस्थान दवा एवं जांच योजना के प्रशिक्षण में जिले के सभी खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारीयों एवं चिकित्सा अधिकारियों को बैठक में निर्देश दिए कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप सरकारी अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों को मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान निशुल्क दवा और जांच योजना के तहत निशुल्क दवा और जांच की सुविधा उपलब्ध करावें.

किसी भी मरीज को आवश्यक दवायें और जांचे बाहर नहीं जाना पडे़ ऐसा प्रबंध करें. उन्होंने कहा कि यह हम सभी का दायित्व है कि राज्य सरकार की इन महत्वपूर्ण जनकल्याणकारी योजनाओं को पूरी निष्ठा और संवेदनशीलता के साथ के अपने चिकित्सा संस्थान पर लागू करें. जिससे किसी भी मरीज को बाहर को कोई दवा नहीं खरीदनी पडे़ और जांच करवाने बाहर नहीं जाना पडे़.इसके लिये अस्पताल में आवश्यक मात्रा में दवाइयों की उपलब्धता के साथ ही जांच उपकरणों के क्रियाशील होना जरूरी है, इसलिये किसी भी स्तर पर कोई कौताही नहीं बरते तथा मरीजों के साथ संवेदनशील रहते उन्हें कोई परेशानी नही हो इसके लिये सजग रहे.

वहीं निशुल्क दवा और जांच योजना के जिला नोडल अधिकारी डॉ. अनिल जैन ने प्रशिक्षण में बताया कि योजना के तहत जिला चिकित्सालय में 1 हजार प्रकार की दवाईयां, सीएचसी स्तर पर 550 तरह की दवाईयां, पीएचसी स्तर पर 450 तरह की दवाईयां, उपस्वास्थ्य केन्द्र पर 50 तरह की दवाईंया बिल्कुल निःशुल्क मरीजो के लिये उपलब्ध करवाई जा रही है. निशुल्क जांच योजना के तहत जिला चिकित्सालय स्तर पर 57, सीएचसी स्तर पर 37 तथा पीएचसी स्तर पर 15 तरह की जांचे पूरी तहत निशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है.

उन्होंने बताया कि योजना के तहत सभी दवाईंया लैब में परीक्षण के बाद गुणवत्तायुक्त ही उपलब्ध करवाई जा रही है इसलिये किसी को इस सम्बन्ध में संशय नहीं होना चाहियें. उन्होंने सभी चिकित्सा संस्थानों के प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया की वे समय पर ई- औषधी पर डिस्पेच हुई दवाईंयों का इन्द्राज एवं मांग का इन्द्राज समय पर करें जिससे दवाईंयों की आपूर्ति की जा सके. साथ किसी दवाई के उपलब्ध नहीं होने पर स्थानिय स्तर पर क्रय की विधी भी बताई गई जिससे किसी मरीज को आवश्यक दवाइयों से वंचित ना रखना पडे़. प्रशिक्षण में निशुल्क दवा एवं योजना से जुडे़ सभी जिला स्तरीय अधिकारी, कार्मिको के साथ ही जिले के सभी राजकीय चिकित्सा संस्थानों के प्रभारी अधिकारी एवं खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित रहे.

ये भी पढ़ें- Big accident in Bansur: बानसूर सड़क हादसे में चाचा, ताऊ समेत दो सगे भाइयों की मौत! शादी के लिए कपड़े खरीदकर आ रहा था परिवार

 

Trending news