मेहंदीपुर बालाजी धाम में मनाई रामनवमी, कोरोना के चलते नहीं हुए श्रद्धालुओं के दर्शन

दौसा जिले में देश के लाखों की की आस्था का केंद्र धार्मिक नगरी मेहंदीपुर बालाजी में गुरुवार को रामनवमी महोत्सव मनाया गया.

मेहंदीपुर बालाजी धाम में मनाई रामनवमी, कोरोना के चलते नहीं हुए श्रद्धालुओं के दर्शन
फाइल फोटो

दौसा: राजस्थान के दौसा जिले में देश के लाखों की की आस्था का केंद्र धार्मिक नगरी मेहंदीपुर बालाजी में गुरुवार को रामनवमी महोत्सव मनाया गया. कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर बंद होने से श्रद्धालुओं को दर्शन नहीं हो सके. 

आस्थाधाम के सीताराम मंदिर में दोपहर 12 बजे भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव के साथ ही मंदिर के घंटे-घड़ियाल बज उठे. मंदिर के महंत नरेशपुरी महाराज ने महाआरती कर रामलला को छप्पनभोग की प्रसादी को भोग लगाकर रामलला की स्तुति की, जहां अपार श्रद्धा व भक्तिमय माहौल देखने को मिला. 

महंत नरेशपुरी महाराज ने सीताराम भगवान की विशेष प्रार्थना करते हुए कोरोना संक्रमण से सृष्टि की रक्षा व जनकल्याण की कामना की. कोरोना संक्रमण के चलती मंदिर बंद होने से बहुत ही साधारण तरीके से रामनवमी मनाई गई.

राम जन्म उत्सव के दौरान मंदिर से जुड़े कुछ चुनिंदा लोगों को ही प्रवेश दिया गया. आरती के दौरान कई श्रद्धालु मंदिर के बाहर स्तुति करते भी देखे गए.

ये भी पढ़ें: राजस्थान: कोरोना संक्रमण पर CM गहलोत का बड़ा आदेश- 'हर नागरिक की होगी स्क्रीनिंग'

साथ ही आपको बता दें कि राजस्थान में कोरोना वायरस (Coronavirus) पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है. राजस्थान में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 25 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. 2 अप्रैल की शाम चार बजे तक जारी रिपोर्ट के अनुसार यह आंकड़ा जारी किया गया है.

इनमें से जयपुर से 7, जोधपुर से 2, अलवर से 1, उदयपुर से 1 और इनके अलावा तबलीगी जमात के 14 केस पॉजिटिव सामने आए हैं. वहीं, भरतपुर से 1, धौलपुर से 1, चूरू से 7, टोंक से 4 और झुंझुनूं से 1 केस सामने आया है. हालांकि इन सबके बीच एक राहत की खबर भी है कि 21 कोरोना पॉजिटिव को नेगेटिव करके उन्हें ठीक भी किया जा चुका है. इनमें से 15 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. 6 मरीजों को अभी आइसोलेशन में रखा गया है.