घर में अकेली थी नाबालिग, पानी पीने के बहाने घर में जबरन जा घुसा युवक, लूटी अस्मत

लॉकडाउन में दुष्कर्म के बढ़ते मामले काफी चिंताजनक हैं. 

घर में अकेली थी नाबालिग, पानी पीने के बहाने घर में जबरन जा घुसा युवक, लूटी अस्मत
प्रतीकात्मक तस्वीर.

भूपेश आचार्य, बाड़मेर: सरहदी बाड़मेर जिले में दुष्कर्म मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. सरहदी बीजराड़ थाने में दर्ज दलित नाबालिग युवती के साथ दुष्कर्म मामले में कार्यवाही नहीं होने से पीड़िता न्याय की गुहार लगाने को एसपी सहित आईजी की चौखट तक पहुंच चुकी है लेकिन मामला दर्ज होने के डेढ़ माह बाद भी आरोपी पुलिस गिरफ्त से कोसों दूर है. पीड़िता ने एसपी सहित जोधपुर रेंज आईजी को ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले से अवगत करवाया है.

सरहदी बीजराड़ थाने में करीब डेढ़ माह पूर्व दर्ज पोक्सो मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर नाबालिग पीड़िता ने अपने परिवार के साथ जिला मुख्यालय पहुंचकर जिला पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन सौंपा. एसपी को सौंपे ज्ञापन में नाबालिग पीड़िता ने बताया कि गत 12 मई को हुई घटना का आरोपी डेढ़ माह से फरार चल रहा है, जबकि पुलिस ने नाबालिग का मेडिकल करवाने के साथ 164 के बयान भी दर्ज कर लिए है.

क्या कहना है पीड़िता का
दलित युवती के अनुसार, आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जोधपुर रेंज आईजी एवं जिला पुलिस अधीक्षक को तीन बार अवगत करवाया जा चुका है लेकिन आरोपी की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है. दलित नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के मुताबिक, 12 मई को वह घर पर अकेली थी. उसके माता- पिता खेत मे कृषि कार्य के लिए गए हुए थे. इस दौरान दोपहर 1 बजे पपसा पुत्र जोगसिंह ने पानी पिलाने का बहाना बनाकर उसके घर में अनाधिकृत रूप से प्रवेश कर आया और उसे नशीली कोल्ड ड्रिंक्स पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म को अंजाम देकर अश्लील फ़ोटो भी खींच लिए. 

सामाजिक बदनामी के डर से छुपाया
इस दौरान उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर उसके रिश्तेदार के आने पर आरोपी मौके से फरार हो गया. जाते-जाते आरोपी ने पीड़िता को धमकी दी कि यदि किसी को बताया तो ओर परिवार को जान से मार देगा. परिजनों के घर लौटने पर नाबालिग ने पूरी घटना अपने परिजनों को बताई. सामाजिक बदनामी के डर से परिवार ने दो दिन घटना को दबा के रखा और घटना के दो दिन बाद 14 मई को बीजराड़ थाने में नामजद आरोपी पपसा पुत्र जोगसिंह के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया है.

न्याय की लगा रही गुहार
पीड़िता ने चौहटन सीओ,बाड़मेर पुलिस अधीक्षक सहित जोधपुर रेंज आईजी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है. वहीं, इस पूरे मामले को लेकर चौहटन पुलिस उपाधीक्षक अजीतसिंह का कहना है कि मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने नाबालिग के मेडिकल के साथ 164 के बयान करवा लिए हैं और पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी हुई है. आरोपी की तलाश में पुलिस गुजरात एवं दो अलग-अलग गांवों में दबिश दे चुकी है लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिल पाई. तकनीकी सूत्रों से भी पुलिस आरोपी की पड़ताल कर रही है और जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा.

बहरहाल, लॉकडाउन में दुष्कर्म के बढ़ते मामले काफी चिंताजनक है. अब पीड़िता ने एसपी सहित उच्च अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई है. अब देखने वाली बात यह होगी कि इस दलित नाबालिग युवती को हवश का शिकार बनाने वाला आरोपी कब सलाखों के पीछे होगा?