कोटा: जिला कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक, दिए ये खास निर्देश

उन्होंने नवीन मतदान केंद्रों के प्रस्ताव तैयार कर भिजवाने कार्यालय में आने वाले पत्रों का समय पर जवाब भिजवाने के निर्देश दिए. 

कोटा: जिला कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक, दिए ये खास निर्देश
कार्यालय में आने वाले पत्रों का समय पर जवाब भिजवाने के निर्देश दिए.

कोटा: जिला कलेक्टर ओम कसेरा ने कहा कि राजस्व अधिकारी मूल दायित्वों को समय पर निर्वहन करते हुए जनकल्याणकारी योजनाओं में पात्रजनों को स्वप्रेरित होकर लाभान्वित करायें. उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों को सभी विभागों के साथ समन्यवयक की भूमिका निभाते हुए जनसमस्याओं का त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए. 

दरअसल, जिला कलेक्टर ओम टैगोर सभागार में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप सभी राजस्व अधिकारी राजस्व न्यायालयों में लम्बित राजस्व मुकदमों की नियमित सुनवाई करें तथा निर्धारित मापदंडों के अनुसार प्रकरणों का निस्तारण कर आमजन को समय पर न्याय प्रदान करें. उन्होंने अतिक्रमण के मामलों को गंभीरता से लेते हुए चारागाह, सिवायचक भूमि से अतिक्रमण हटाकर आदतन अतिक्रमी को नियमानुसार सजा कर राजस्व वसूली भी करें. उन्होंने गैर खातेदार से खातेदारी के लंबित प्रकरणों का समय पर निस्तारण करने, सीमाज्ञान के मामलों में टीम गठित कर पारदर्शिता के साथ कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए. 

जिला कलेक्टर ने तहसीलवार कार्यालयों के राजस्व रिकार्ड के ऑनलाइन करने की प्रगति की समीक्षा करते हुए सभी तहसीलों में 25 फरवरी तक आवश्यक रूप से रिकार्ड ऑनलाइन करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि राजस्व रिकार्ड के ऑनलाइन होने से काश्तकार किसी भी स्थान से जानकारी प्राप्त कर सकेंगे तथा सामान्य जानकारी प्राप्त करने के लिये कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. 

रोड़ा एक्ट पर कही ये बातें
उपखंडवार राजस्व वसूली के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए उन्होंने रोड़ा एक्ट, एलआर एक्ट के बकाया वसूली के लिये विशेष प्रयास करते हुए प्रतिमाह लक्ष्य तय कर वसूली की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जल भराव वाले क्षेत्रों, नदी-नालों में अतिक्रमण अथवा पूर्व में आवंटन को अब्दुल रहमान प्रकरण में लेते हुए शीघ्र कार्यवाही करें. 

और भी कई दिए निर्देश
अतिरिक्त कलेक्टर प्रशासन नरेन्द्र गुप्ता ने सभी अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों के समयबद्ध निस्तारण कर जन समस्याओं के निराकरण को भी प्राथमिकता देते हुए कार्य करें. उन्होंने विभागीय जांच के लंबित प्रकरणों को एवं राजस्थान संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों को ध्यान देकर निराकरण करने के निर्देश दिए. उन्होंने नवीन मतदान केंद्रों के प्रस्ताव तैयार कर भिजवाने कार्यालय में आने वाले पत्रों का समय पर जवाब भिजवाने के निर्देश दिए. 

इस अवसर पर अतिरिक्त कलेक्टर शहर आरडी मीणा, सिलिंग सत्यनारायण अमेठा, उपखण्ड अधिकारी कोटा मोहनलाल प्रतिहार, रामगंजमण्डी चिमन लाल मीणा, सांगोद संजीव शर्मा, दीगोद जबर सिंह, इटावा रामावतार मीणा सहित सभी तहसीलदार नायाब तहसीलदार उपस्थित रहे.