close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में नई स्मार्ट टिकटिंग मशीन के जरिए कम होगा रोडवेज का घाटा

नई स्मार्ट टिकटिंग मशीन से राजस्थान रोडवेज को घाटे को कम करेगा और रेवन्यू बढ़ाएगा. यह मशीन केवल राजस्थान रोडवेज पहली बार उपयोग में लाई जा रही है.

राजस्थान में नई स्मार्ट टिकटिंग मशीन के जरिए कम होगा रोडवेज का घाटा
रोडवेज की एसी और नॉन एसी बसों में कैशलैस सुविधा बहाल हो गई है.

दामोदर प्रसाद/जयपुर: राजस्थान रोडवेज में कंडेक्टर अब टिकटों में हेराफेरी नहीं कर पाएंगे. अब रोडवेज में टिकटों में भ्रष्टाचार की शिकायतों पर अंकुश लगेगा. यात्रियों को देने वाले टिकटों में पारदर्शिता आएगी. नई स्मार्ट टिकटिंग मशीन से राजस्थान रोडवेज को घाटे को कम करेगा और रेवन्यू बढ़ाएगा. यह मशीन केवल राजस्थान रोडवेज पहली बार उपयोग में ली जा रही है.

राजस्थान रोडवेज में आए दिन लंबी दूरी और अन्य राज्यों में जाने वाली बसों में बुक सीटों को लेकर यात्रियों और कंडेक्टर के बीच झगड़े की शिकायत मिलती रहती थी. साथ ही कंडक्टर यात्रियों को टिकट नहीं देकर किराए को अपनी जेब में रखना इन सब शिकायतों पर अब अंकुश लगेगा. राजस्थान रोडवेज में करीब 7 हजार 150 मशीनों को प्रदेशभर के डिपों में कंडक्टर्स को दी गई है. रोडवेज की एसी और नॉन एसी बसों में कंडेक्टर्स को प्रशिक्षण देकर यह मशीनें उपलब्ध करवाई गई है. यह मशीन स्मार्ट फोन की तरह मशीन ऑनलाइन होगी. इस स्मार्ट टिकटिंग मशीन में कंडेक्टर को ऑनलाइन सीट बुकिंग यात्रियों का चार्ट उपलब्ध होगा. अब कंडेक्टर सीट खाली होने पर ही अन्य यात्रियों को बस में लेगा.

इसके साथ ही अब रोडवेज की एसी और नॉन एसी बसों में भी कैशलैस सुविधा बहाल हो गई है. यात्री अब आपके डेबिट कार्ड से भी यात्री टिकट ले सकेगे. ऑनलाइन मशीन होने से अब बसें भी समय पर यात्री को अपने गंतव्य जगह पर छोड सकेगी. जिससे आगे की बस या फ्लाइट यात्री समय पर पकड़ सकेगा. इस ऑनलाइन मशीन से यात्री भी खुश है. क्योंकि बस चालक-परिचालक और बस की गतिविधियों को रोडवेज के अधिकारी देख सकेंगे. साथ बस में यदि किसी प्रकार की घटना होती है तो कंडक्टर इस मशीन के कैमरे के माध्यम से रिकॉर्डिंग कर सकेगा. जिससे जयपुर सेंट्रल कार्यालय पर अधिकारी ऑनलाइन देख सकेंगे. इससे यात्रियों की यात्रा सुरक्षित भी होगी.

इलेक्ट्रोनिक टिकट मशीन नई तकनीकि की मशीन है, जो कि एक स्मार्ट फोन की तरह बनी हुई है. इस मशीन का टेंडर इंडिक्स सोफ्टवेयर इंडिया प्राईवेट लिमिटेड को 5 साल के लिए दिया गया है. इन मशीनों के रखरखाव भी कंपनी के द्वारा ही होगा. यदि मशीन में किसी प्रकार की मशीन में तकनीकि खराबी आ जाती है तो कंपनी द्वारा हर डिपो पर एक टेकनीशियन को रखा गया है जो कि मशीन की तकनीकि खराबी को दूर करने का काम करेगा. पुरानी तरह की मशीन से ज्यादा स्पीड में टिकट बनाने का मशीन काम कर रही है.