सचिन पायलट ने कहा, कांग्रेस पार्टी एकजुट है, एक जुट थी और हमेशा रहेगी

 पायलट ने राजसमंद जिले के चारभुजा में किसानों के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा अध्यक्ष बांग्लादेशियों को बाहर भेजने के नाम पर, असम, बंगाल, कश्मीर के नाम पर यहां भाषण देते है लेकिन उन्हें राजस्थान सरकार के पिछले साढे चार साल का हिसाबकिताब देना चाहिए. 

सचिन पायलट ने कहा, कांग्रेस पार्टी एकजुट है, एक जुट थी और हमेशा रहेगी
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट.(फोटो-@SachinPilot)

जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी एकजुट है, एक जुट थी और हमेशा रहेगी.  इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए दावा किया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह जब प्रदेश दौरे पर आते हैं तब मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे एक जिले में साथ बैठने को तैयार नहीं है. पायलट ने राजसमंद जिले के चारभुजा में किसानों के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा अध्यक्ष बांग्लादेशियों को बाहर भेजने के नाम पर, असम, बंगाल, कश्मीर के नाम पर यहां भाषण देते है लेकिन उन्हें राजस्थान सरकार के पिछले साढे चार साल का हिसाबकिताब देना चाहिए. उन्होंने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस का जब शासन आयेगा तो छोटे किसानों का आर्थिक संकट दूर होगा और उन्हें आसान शर्तो पर रिण दिया जायेगा.

उन्होंने कहा कि भाजपा की प्रचंड बहुमत की सरकार होने के बाजवूद राजे का जनता से संपर्क नहीं है, लेकिन चुनाव हारने के बाद भी कांग्रेस के सभी नेता क्षेत्र में रहे और लोगों का दुख दर्द बांटा. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आगामी विधानसभा चुनाव में कोई भी रास्ता निकाल ले, कोई भी जुमला लेकर कुछ भी भाषण दें, लेकिन राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस प्रदेश में ऐतिहासिक बहुमत लेकर शासन करने वाली है.

इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने अपने पिछले कार्यकाल में भाजपा सरकार की किसी योजना को बंद नहीं किया बल्कि उन योजनओं को मजबूत कर आगे बढ़ाया लेकिन वर्तमान सरकार ने कांग्रेस सरकार द्वारा लागू की गई सभी योजनाओं को नाकाम कर दिया.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पिछली बार 163 सीटों के साथ भारी बहुमत मिला लेकिन वह चार साल तक जनता से नहीं मिली और हमारी योजनाओं को बंद कर दिया. गहलोत ने कहा कि गाँव में, ढाणी में, सबको समझना पड़ेगा कौन सही है, कौन गलत है.  कौन सी पार्टी किसानों का भला कर सकती है, मजदूरों का भला कर सकती है, दलितों का भला कर सकती है, आदिवासियों का विकास कर सकती है.