close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर के समीर व्हीटन ने 50 साल की उम्र में स्विमिंग कर बनाया यह रिकॉर्ड

4 अक्टूबर 2018 को समीर ने 38 किलोमीटर लम्बे कैथलीना चैनल को पार किया तो वहीं 1 जून को 48 किलोमीटर लम्बे न्यूयॉर्क हार्ले चैनल को पार कर एक और कीर्तिमान स्थापित किया. 

जयपुर के समीर व्हीटन ने 50 साल की उम्र में स्विमिंग कर बनाया यह रिकॉर्ड
50 वर्षीय समीर ने वर्ष 2017 से एक बार फिर से स्विमिंग करने का फैसला लिया.

जयपुर: राजधानी जयपुर के 50 वर्षीय समीर व्हीटन एक ऐसा नाम है, जिनके सामने उम्र कोई मायने नहीं रखती है. स्कूल टाइम में देश के लिए स्विमिंग में प्रतिनिधित्व करने वाले समीर ने स्कूल पास करने के साथ ही स्विमिंग को अलविदा कर दिया और पूरी तरीके से अपने करियर को लेकर गंभीर हो गए. लेकिन 48 साल पूरे करने के साथ ही समीर ने एक बार फिर से स्विमिंग करने का फैसला लिया और महज दो साल में ही समीर ने वो कर दिखाया जो आज तक किसी राजस्थानी ने नहीं किया.

सेंट जेवीयर्स स्कूल से पास आउट 50 वर्षीय समीर ने वर्ष 2017 से एक बार फिर से स्विमिंग करने का फैसला लिया. लक्ष्य था इंग्लिश चैनल को पार करना. इसकी तैयारी में जुट गए, लेकिन जैसी ही उन्होंने इसकी तैयारी की तो सात समंदर को पार करने का सपना देखने लगे. इसकी शुरूआत की उन्होंने कैथलीना चैनल को पार करके. 4 अक्टूबर 2018 को समीर ने 38 किलोमीटर लम्बे कैथलीना चैनल को पार किया तो वहीं 1 जून को 48 किलोमीटर लम्बे न्यूयॉर्क हार्ले चैनल को पार कर एक और कीर्तिमान स्थापित किया. अब सितंबर महीने में समीर 36 किलोमीटर लम्बा इंग्लिश चैनल पार करने जा रहा हैं. जिसके साथ ही समीर देश के चौथे और राजस्थान के पहले ऐसे स्वीमर बन जाएंगे जिनको ट्रिपल क्राउन की उपल्बधि हासिल होगी.

देश के सीनियर ओपन वाटर स्वीमर समीर व्हीटन ने बताया की 'वर्ष 2018 में ही भागीरथ नदी की 80 किलोमीटर की रेस भी पार कर चुके हैं. इस रेस में 25 स्वीमर्स ने हिस्सा लिया था, लेकिन महज 9 स्वीमर ही इस रेस को कम्पलीट कर चुके हैं. 15 सितम्बर को 15 डिग्री सेल्सियस कोल्ड वाटर में इंग्लिश चैनल पार कर क्राउन हासिल करेंगे'.

कई एक्सीडेंट और शोल्डर इंजरी होने की वजह से कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन कभी भी उन्होंने अपने लक्ष्य को लेकर नकारात्मक सोच को हावी नहीं होने लिया. जब वो पानी में होते हैं तो सिर्फ ध्यान लक्ष्य पर ही होता है. समुंदर का पानी चाहे कितना भी ठंडा हो, लेकिन वो उसको अपने ऊपर हावी नहीं होने देते हैं. पानी में उतरने के साथ ही वो और पानी एक हो जाते हैं. अभी तक के हर रेस में उनकी धर्मपत्नी हमेशा उनके साथ रही है. समीर ने बताया की 'इंग्लिश चैनल पार करने के लिए रोजाना करीब 6 से 7 घंटे का अभ्यास किया जा रहा है. इंटरनेशनल ओपन वाटर स्वीमर एसोसिएशन की ओर से स्वीमिंग की परमिशन भी मिल चुकी है'.

समीर ने बताया की 'ओपन स्वीमिंग के दौरान कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. हर मिनट में समुंदर मौसम भी बदल जाता है. इसके साथ ही शार्क डेंजर, तेज लहरें से दूरी ज्यादा हो जाना. खारा पानी पेट में जाने से डायरिया का खतरा, खारे पानी से चमड़ी खराब होना. कोल्ड वाटर में हाइपोथर्मिया होना सहित कई रिस्क होते हैं, लेकिन जब लक्ष्य दिमाग में होता है तो ये सभी मुसीबत छोटी लगने लगती है.'