राजस्थान में तीन चरणों में होंगे सरपंच, वार्ड पंच के चुनाव, आचार संहिता लागू

पंचायत समितियों और ग्राम पंचायतों के गठन का मामला हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में होने के चलते राज्य निर्वाचन आयोग ने फिलहाल सरपंच और वार्ड पंचों का चुनाव कार्यक्रम जारी किया है.   

राजस्थान में तीन चरणों में होंगे सरपंच, वार्ड पंच के चुनाव, आचार संहिता लागू
सरपंच और वार्ड पंचों का चुनाव कार्यक्रम जारी

जयपुर: पंचायत समितियों और ग्राम पंचायतों के गठन का मामला हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में होने के चलते राज्य निर्वाचन आयोग ने फिलहाल सरपंच और वार्ड पंचों का चुनाव कार्यक्रम जारी किया है. राज्य निर्वाचन आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा ने इसको लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि अभी पंचायत समिति सदस्यों और जिला परिषद सदस्यों के लिए चुनाव नहीं होंगे. अभी सरपंच और वार्ड पंचों के चुनाव तीन चरणों में होंगे. वहीं चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही चुनाव वाले क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है. 

2015 के चुनाव में फर्जी मार्कशीटों से, गलत दस्तावेजों से चुनाव लड़ने के बड़े मामले सामने आने के बाद सरकार ने पंचायतीराज चुनाव से शैक्षणिक योग्यता की बाध्यता हटा दी थी. अब सरपंच और वार्ड पंच सदस्य के चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता की बाध्यता समाप्त हो गई है. वहीं दो से अधिक संतान वाले चुनाव नहीं लड़ पाएंगे. आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा ने बताया कि अभी प्रदेश की 287 पंचायत समितियों में 9171 सरपंच और 90 हजार 400 वार्ड पंचों का चुनाव होगा. सरंपचों के चुनाव ईवीएम से होंगे वहीं वार्ड पंच के चुनाव बैलेट पेपर से कराए जाएंगे.

सरपंच और वार्ड पंचों का चुनाव कार्यक्रम
पहला चरण

116 पंचायत समितियों की 3691 पंचायतों और 36047 वार्ड पंचों के चुनाव
13794 बनाए गए बूथ  
7 जनवरी को जारी होगी अधिसूचना
8 जनवरी को सुबह 10.30 से 4.30 बजे तक कर सकेंगे नामांकन
9 जनवरी 3 बजे तक ले सकेंगे नाम वापस, इसके बाद चुनाव चिन्हों का होगा आवंटन
16 जनवरी को पहुंच जाएगा मतदान दल
17 जनवरी को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक होगा मतदान
17 जनवरी को ही मतदान के बाद होगी मतगणना
18 जनवरी को हाेगा उप सरंपच का चुनाव  

दूसरा चरण
102 पंचायत समितियों की 3237 सरपंचों और 31376 वार्ड पंचों के चुनाव
11873 बनाए गए बूथ  
11 जनवरी को जारी होगी अधिसूचना
13 जनवरी को सुबह 10.30 से 4.30 बजे तक कर सकेंगे नामांकन
14 जनवरी 3 बजे तक ले सकेंगे नाम वापस, इसके बाद चुनाव चिन्हों का होगा आवंटन
21 जनवरी को पहुंच जाएगा मतदान दल
22 जनवरी को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक होगा मतदान
22 जनवरी को ही मतदान के बाद होगी मतगणना
23 जनवरी को हाेगा उप सरंपच का चुनाव  

तीसरा चरण
69 पंचायत समितयों में 2243 सरपंच और 22977 वार्ड पंचों के चुनाव  
8858 बनाए गए बूथ  
18 जनवरी को जारी होगी अधिसूचना
20 जनवरी को सुबह 10.30 से 4.30 बजे तक कर सकेंगे नामांकन
21 जनवरी 3 बजे तक ले सकेंगे नाम वापस, इसके बाद चुनाव चिन्हों का होगा आवंटन
28 जनवरी को पहुंच जाएगा मतदान दल
29 जनवरी को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक होगा मतदान
29 जनवरी को ही मतदान के बाद होगी मतगणना
30 जनवरी को होगा उप सरंपच का चुनाव  

राज्य चुनाव आयुक्त प्रेम सिंह मेहरा ने बताया कि पुनर्गठन, नवसर्जन के बाद प्रदेश में 343 पंचायत समितियां, 11142 पंचायते बनाई गई. अभी कोर्ट के निर्णय से जो पंचायतें प्रभावित नहीं है वहां चुनाव कार्यक्रम घोषित किया गया है. कोर्ट के निर्णय के बाद अन्य पंचायतों का भी कार्यक्रम जारी किया जाएगा. पिछली बार 9872 सरपंच और 1 लाख 9 हजार 469 वार्ड पंचों का चुनाव हुआ था. अब इस चुनाव में ईवीएम का प्रयोग किया जा रहा है जिससे मतदान दलों को सहूलियत रहेगी.