जहरीली शराब पीने से सरपंच के भाई समेत 3 की मौत, 7 गंभीर बीमार

राजस्थान के सीमावर्ती जिले भरतपुर (Bharatpur News) के रूपवास थाना क्षेत्र के गांव चक में जहरीली शराब (Poisonous liquor) के सेवन से बुधवार सुबह दो जनों की घर पर मौत हो गई जबकि सात गंभीर रूप से बीमार हो गए. 

जहरीली शराब पीने से सरपंच के भाई समेत 3 की मौत, 7 गंभीर बीमार
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान के सीमावर्ती जिले भरतपुर (Bharatpur News) के रूपवास थाना क्षेत्र के गांव चक में जहरीली शराब (Poisonous liquor) के सेवन से बुधवार सुबह दो जनों की घर पर मौत हो गई जबकि सात गंभीर रूप से बीमार हो गए. वहीं, एक गंभीर बीमार ने बाद में दम तोड़ दिया. मृतकों में एक सरपंच का बड़ा भाई है. वहीं, तबीयत बिगडऩे पर परिजनों ने सुबह इन्हें रूपवास सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (Rouvas Community Health Center) पर भर्ती कराया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद भरतपुर रैफर कर दिया. उधर, घटना की सूचना पर थाना पुलिस और अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और जानकारी ली. पुलिस ने शराब बेचने वाले एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है. जबकि एक अन्य जो शराब बेचने में शामिल था, वह खुद भी बीमार हो गया. उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है. दुकान को सीज कर दिया है. वहीं, मृतकों के मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिए.

जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव चक में काफी समय से अवैध शराब बेचने का धंधा हो रहा है. मंगलवार शाम सरपंच के बड़े भाई पीतम पुत्र धर्मसिंह, मांगे पुत्र चंदन, रामजीत पुत्र पूरन, संतोष पुत्र छोटेलाल, कम्पोटर पुत्र छोटेलाल, लग्गूराम पुत्र सोवरन, मांगीलाल पुत्र लोहरे, राजेश पुत्र चंदन, रवि पुत्र जयप्रकाश व वासदेव पुत्र घूरेलाल ने गांव में से शराब खरीद कर एक जगह बैठक सेवन किया। इसके बाद यह लोग घर चले गए. बुधवार तड़के तबीयत खराब होने पर मांगे व पीतम को लेकर परिजन रूपवास के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे. जहां इन्हें मृत घोषित कर दिया. इसके अन्य जिन्होंने शराब का सेवन किया उनकी भी तबीयत बिगड़ गई और आंखों से दिखाई नहीं देने की शिकायत पर परिजन इन्हें रूपवास अस्पताल आए. हालत गंभीर होने पर इन्हें प्राथमिक उपचार देकर भरतपुर रैफर कर दिया.

यहां उपचार के दौरान तीसरे व्यक्ति कम्पेाटर की भी मौत हो गई. घटना की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एडीएफ) राजेन्द्र मीणा, सीओ अजय शर्मा, उपखंड अधिकारी ललित मीणा, तहसीलदार अल्का श्रीवास्तव, प्रशिक्षु आइपीएस सुमित, थाना प्रभारी जमील खां मय जाब्ते मौके पर पहुंचे और जानकारी ली.पुलिस ने शराब बेचने वाले एक जने को हिरासत में लिया है. वहीं, शराब बेचने में शामिल रहा संतोष खुद बीमार है और उसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने एक दुकान से बेची गई अवैध शराब भी बरामद की है.

भाई ने करवाया मामला दर्ज
मृतक के भाई सरपंच रोहतम ने दो नामजद लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। दर्ज करवाई रिपोर्ट में बताया कि गांव चक में रामेश्वर व संतोष उर्फ संता अवैध शराब बेचते हैं. इन लोगों से शराब खरीद कर पीने से उसके भाई पीतम व मांगे की मौत हो गई. वहीं अन्य लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए. इन लोगों को आंखों से दिखना बंद हो गया. जिस पर गंभीर रूप से बीमार लोगों के भरतपुर रैफर कर दिया गया.अवैध शराब बेचने वाले माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.

फॉर्मूला बिगड़ने से बन गई जहरीली शराब
जांच में सामने आया कि रामेश्वर व संतोष खुद गांव में मिथाइल व स्प्रिट से शराब बनाकर बेचते हैं. माना जा रहा है कि फॉर्मूला बिगडऩे या ज्यादा मिथाइल उपयोग आने से शराब जहरीली हो गई. इसी वजह से इन लोगों की तबीयत बिगड़ गई. इसमें आंखों की रोशनी चली जाती है और व्यक्ति जान से हाथ धो बैठता है.

- जहरीली शराब पीने से तीन जनों की मौत हो गई. मामले में एक आरोपी को हिरासत में लिया है जबकि एक आरोपी बीमार है. मौके से अवैध शराब बरामद की है. मिथाइल व स्प्रिट से बनाकर शराब बेची गई थी. मामले में जांच रही है.

ये भी पढ़ें: Rajasthan में लापता हुए 684 पाकिस्तानी नागरिक, सुरक्षा एजेंसियां Alert पर