राजस्थान निकाय चुनाव नतीजे: पूनिया ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- किया सत्ता का दुरुपयोग

पूनिया ने कहा कि निकाय चुनाव में जनादेश किसी भी सूरत में कांग्रेस के पक्ष में नहीं रहा है. उसका प्रत्यक्ष उदाहरण उदयपुर, बीकानेर और भरतपुर नगर निगम में जनता से बीजेपी (BJP) को मिला आशीर्वाद है. 

राजस्थान निकाय चुनाव नतीजे: पूनिया ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- किया सत्ता का दुरुपयोग
पूनिया ने कहा कि निकाय चुनाव में जनादेश किसी भी सूरत में कांग्रेस के पक्ष में नहीं रहा है.

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने कहा कि नगर निकाय (Urban Local Body Election) के चुनाव परिणामों ने यह साबित कर दिया कि सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके भी कांग्रेस अपने पक्ष में राजस्थान की जनता को नहीं कर पाई.

पूनिया ने कहा कि निकाय चुनाव में जनादेश किसी भी सूरत में कांग्रेस के पक्ष में नहीं रहा है. उसका प्रत्यक्ष उदाहरण उदयपुर, बीकानेर और भरतपुर नगर निगम में जनता से बीजेपी (BJP) को मिला आशीर्वाद है. प्रदेश के 49 निकायों में हुए चुनाव के नतीजे बीजेपी (BJP) ने विनम्रता के साथ स्वीकारने की बात तो कही है, लेकिन इसके साथ ही बीजेपी (BJP) प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने सरकार और सत्ताधारी पार्टी पर आरोप लगा दिए.

कांग्रेस पर हथकंडे अपनाने का आरोप
पूनिया ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब से सरकार बनी है, तब से येनकेन प्रकारेण नगर निकाय (Urban Local Body Election) का चुनाव जीतने के लिए हथकंडे अपना रही थी. सबसे पहले अप्रत्यक्ष चुनाव को प्रत्यक्ष किया और फिर जो परिसीमन 2021 में होना था, उसको अपने तरीके से 2019 में करवा लिया और अपनी सुविधा अनुसार वार्ड बनवा लिए. किसी भी आपत्ति पर सुनवाई नहीं हुई. उसके बाद खुद सरकार ने घोषणा की वो प्रत्यक्ष चुनाव करवाएंगे, लेकिन प्रत्यक्ष चुनाव में कांग्रेस को लोकसभा चुनाव के बाद अपनी हार नजर आने लगी.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में बढ़ता अपराध, किसानों की कर्ज माफी, बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता जैसे जरूरी मुद्दे, सरकार की विफलता बनकर हावी हो जाते, इसलिए सरकार ने अपने ही फैसले को बदल दिया. यही नहीं कांग्रेस ने वार्डों का पुनर्सीमांकन जाति एवं धर्म के नाम पर कर निकायों को अपने पक्ष में करने का षड्यंत्र रचा, जिसमें पूर्ण रूप से सफल नहीं हुई.

कांग्रेस ने साम-दाम-दंड-भेद अपनाया
पूनिया ने कहा कि पुनर्सीमांकन के बाद छोटे-छोटे वार्ड बनाकर सरकार की मशीनरी को अपने विधायकों और मंत्रीयों को साम, दाम, दण्ड, भेद का इस्तेमाल करके कांग्रेस को चुनाव जिताने के अभियान में लगा दिया और उसका परिणाम भी सामने आया कि जहां पर मतदाताओं की संख्या अधिक थी, वहां पर कांग्रेस पार्टी चुनाव हार गई और जहां पर बहुत थोडे़ मतदाता थे, वहां पर इन्होंने सरकार के प्रभाव का इस्तेमाल करके चुनाव जीतने का प्रयास किया. बीजेपी (BJP) प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि साल 1994 से अभी तक जो सत्ताधारी दल रहा, उसे निकाय चुनाव में फायदा हुआ.

तीन निगम में बीजेपी (BJP) साफ तौर पर बनी रही अपना बोर्ड 
पूनिया ने दावा करते हुए कहा कि उदयपुर, बीकानेर, भरतपुर के तीनों नगर निगमों में भाजपा को बढ़त मिली है. उन्होंने कहा कि तीन निगम में बीजेपी (BJP) साफ तौर पर अपना बोर्ड बना रही है. पूनिया ने कहा कि उनकी पार्टी भरतपुर में कांग्रेस से बहुत अच्छे अंतर से आगे है और वहां पूरी संभावना बीजेपी (BJP) के पक्ष में है.

बीजेपी (BJP) के जीते पार्षदों को दी बधाई
सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सभी चुने हुए पार्षदों को बधाई देते हुए कहा कि सरकार की इतनी ताकत लगाने के बाद भी वो चुनाव जीते हैं. इसलिए जहां पर भाजपा (BJP) का बोर्ड बनेगा, वहां विकास के नए आयाम स्थापित करेंगे और जहां विपक्ष में है, वहां जनता के अधिकार की लड़ाई लड़ेंगे.