शायराना अंदाज में BJP नेता Poonia ने बजट पर साधा निशाना तो Congress भी नहीं बैठी चुप

कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधते हुए पूनिया ने शायराना अंदाज़ में कहा- ये बात तो करते हैं आंसुओं में चिराग जलाने की, लेकिन इनके दीपक तो अभी टिमटिमाने लगे हैं.

शायराना अंदाज में BJP नेता Poonia ने बजट पर साधा निशाना तो Congress भी नहीं बैठी चुप
पूनिया ने बजट घोषणाओं को मध्यावधि चुनाव से जोड़कर ही पेश करने वाला करार दिया है.

Jaipur: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि प्रदेश में अभी भी मध्यावधि चुनाव की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें- एक नजर में पढ़ें Rajasthan Budget 2021 की बड़ी घोषणाएं, इन क्षेत्रों को मिली सौगातें

उन्होंने बजट घोषणाओं को मध्यावधि चुनाव से जोड़कर ही पेश करने वाला करार दिया है. कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधते हुए पूनिया ने शायराना अंदाज़ में कहा- ये बात तो करते हैं आंसुओं में चिराग जलाने की, लेकिन इनके दीपक तो अभी टिमटिमाने लगे हैं.

यह भी पढ़ें- Rajasthan Budget 2021: बजट से काफी खुश हुई 'आधी आबादी', बोली- है 'Gehlot का जादू'

 

वासुदेव देवनानी ने कहा राजनीति संभावनाओं का खेल 
वहीं, बीजेपी विधायक वासुदेव देवनानी (Vasudev Devnani) ने भी मीडिया से रूबरू होकर कहा कि मध्यावधि चुनाव की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता क्योंकि राजस्थान (Rajasthan) में हालात ऐसे ही हैं. जब मीडिया ने पूछा कि क्या पांडिचेरी जैसे हालात राजस्थान में बन रहे हैं, तो उन्होंने कहा दो राज्यों को जोड़ करके नहीं देखना चाहिए क्योंकि हर जगह परिस्थितियां अलग-अलग होती हैं लेकिन मध्यावधि चुनाव की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है. भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि बजट को देखेंगे तो यह चुनाव जैसा ही है. इससे मध्यावधि चुनाव का जैसा ही एहसास हो रहा है. इसलिए ही इस बजट में चुनाव जैसी घोषणाएं की गई हैं लेकिन इसमें कहीं भी वित्तीय प्रावधान नहीं किया गया है. वासुदेव देवनानी ने कहा राजनीति संभावनाओं का खेल है. मैंने पहले भी कहा था ये सरकार 5 साल नहीं चलेगी.

यह भी पढ़ें- Rajasthan Budget 2021: किसानों के लिए CM Gehlot की बड़ी घोषणाएं, मेज बजाकर हुआ स्वागत

 

टीकाराम जूली ने दिया यह जवाब
दूसरी ओर बीजेपी विधायकों की ओर बजट के बहाने मध्यावधि चुनाव की हवा बनाये जाने और विपक्ष की ओर से लगाए आरोपों पर श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली (Tikaram Jully) बोले कि विपक्ष मुगालते में न रहे. यह अशोक गहलोत सरकार है, जो मजबूत है. विपक्ष केवल मुद्दों को उछालने में माहिर है. राजस्थान में ऐसे कोई हालात नहीं हैं. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan बजट भाषण के दौरान CM Gehlot की चुटकी, बोले- मैं पानी पीकर नहीं कोस रहा!

दिन में सपने देखती है बीजेपी
वहीं, कांग्रेस विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा ने भी मध्यावधि चुनाव की किसी प्रकार की संभावनाओं से इनकार किया. उन्होंने कहा कि भाजपा दिन में सपने देखने लगी है. बीजेपी ख्याली पुलाव पकाना बंद करें. इनके मन में बहुत दिनों से यही चल रहा है लेकिन यह सरकार कल भी थी, आज भी है और आगे भी रहेगी. आने वाली सरकार भी कांग्रेस की ही बनेगी.