बाजार में सैनेटाइजर की किल्लत बरकरार, कार्यालय-दुकानें खुलने से मांग में उछाल

दुकानों पर सैनेटाइजर बोतलों को कई गुणा अधिक कीमत पर बेचा जा रहा है. 

बाजार में सैनेटाइजर की किल्लत बरकरार, कार्यालय-दुकानें खुलने से मांग में उछाल
मांग आधार पर अधिक उत्पाद किया जाएगा.

जयपुर: कोरोना संक्रमण के बाद जयपुर समेत पूरे प्रदेश में सैनेटाइजर की कालाबाजारी चल रही है. दुकानों पर सैनेटाइजर बोतलों को कई गुणा अधिक कीमत पर बेचा जा रहा है. विसंक्रमित करने के काम आने वाला स्प्रिट भी महंगे दामों पर बेचा जा रहा है. 

प्रदेश में मांग बढ़ने से सैनेटाइजर की किल्लत को दूर करने के लिए राजस्थान स्टेट गंगानगर शुगर मिल में तैयार उत्पाद किफायती साबित हो रहे हैं. सहकार भवन में संचालित हैंड सैनेटाइजर के रिटेल आउटलेट को बेहतर रिस्पांस मिल रहा है. 

राजस्थान स्टेट गंगानगर शुगर मिल के स्वतंत्र निदेशक सीए सीएल यादव ने आज स्टोर का दौरा कर बिक्री व्यवस्था, आपूर्ति और भंडारण की अधिकारियों से जानकारी ली. यादव ने बताया कि रिटेल स्टोर पर आम जनता रियायती दरों पर सैनेटाइजर उपलब्ध करवाने के प्रयास मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर हुए हैँ. आउटलेट पर सैनेटाइजर की 100 एमएल से 5 लीटर तक की विभिन्न पैकिंग विक्रय के लिए सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक उपलब्ध हैं. 

मिल महाप्रबंधक केसरलाल मीणा ने बताया कि पांच रिडक्शन सेंटरों पर 90 हजार से 1 लाख बोतलें प्रतिदिन बनाने का लक्ष्य तय किया गया है. इसमें जयपुर केन्द्र पर 50 हजार बोतलें उत्पादित होंगी. इसके अलावा उदयपुर, कोटा, जोधपुर और हनुमानगढ़ के केन्द्रों पर प्रति केन्द्र 10 हजार बोतलें हर दिन बनाने का लक्ष्य तय किया गया है. मांग आधार पर अधिक उत्पाद किया जाएगा.