निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के तहत बढ़ी छात्रवृत्ति की आवेदन सीमा

हिताधिकारियों के बच्चों को छात्रवृत्ति का लाभ सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह समय सीमा बढ़ाई गई.

निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के तहत बढ़ी छात्रवृत्ति की आवेदन सीमा
श्रम विभाग के परिपत्र द्वारा 15 मई किया गया था, जिसे आज फिर बढ़ाकर 15 जून किया गया.

जयपुर: श्रम विभाग के परिपत्र द्वारा शुक्रवार को निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के तहत छात्रवृत्ति हेतु आवेदन की सीमा 15 जून तक बढ़ाई. श्रम मंत्री टीकाराम जूली ने बताया कि वर्तमान में कोरोना वायरस महामारी के कारण संपूर्ण प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा लॉक डाउन घोषित किया गया है.

उन्होंने बताया कि निर्माण श्रमिकों के बच्चों को शैक्षणिक सत्र 2018-19 में परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के तहत छात्रवृत्ति हेतु आवेदन की सीमा 15 जून तक

बढ़ाई गई. योजना में 31 मार्च तक आवेदन प्रस्तुत करने का प्रावधान था, जिसे पूर्व में भी कोरोना वायरस के चलते श्रम विभाग के परिपत्र द्वारा 15 मई किया गया था, जिसे आज फिर बढ़ाकर 15 जून किया गया. 

जूली ने बताया कि हिताधिकारियों के बच्चों को छात्रवृत्ति का लाभ सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह समय सीमा बढ़ाई गई ताकि उन्हें छात्रवृति हेतु आवेदन करने में किसी प्रकार की कोई कठिनाई न हो सके.