close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां: स्कूली बच्चों को ढ़ोकर लाना पड़ता है पीने का पानी, प्रशासन मौन

जिले के केलवाड़ा-कस्बे पास नेशनल हाइवे 27 पर स्थित ग्राम ऊनी में स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे एक किलोमीटर दूर स्कूल में खाना बनाने ओर पीने का पानी भरी भरकम बाल्टियों में भरकर लाते हैं.

बारां: स्कूली बच्चों को ढ़ोकर लाना पड़ता है पीने का पानी, प्रशासन मौन
संस्था प्रधान सुनीता सोन ने इसकी शिकायत दर्ज कराने की बात कही.

बारां/राम प्रसाद मेहता: जिले के केलवाड़ा-कस्बे पास नेशनल हाइवे 27 पर स्थित ग्राम ऊनी में उत्कृष्ट उच्च प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को पीने के पानी लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है. इस स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे एक किलोमीटर दूर जाकर स्कूल में खाना बनाने और पीने का पानी भरी भरकम बाल्टियों में भरकर लाते हैं.

बताया जा रहा है कि बारां के केलवाड़ा-कस्बे पास नेशनल हाइवे 27 पर स्थित ग्राम ऊनी में उत्कृष्ट उच्च प्राथमिक विद्यालय में मौजूद दो ट्यूबबेल खराब है. जिसमें से 1 की मोटर खराब है. वहीं, दूसरे में पानी नहीं है. जिस कारण यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों को प्यास बुझाने के लिए रोज सुबह प्रार्थना के समय स्कूल से लगभग एक किलोमीटर दूर जाकर ट्यूबबेल से पानी लाना पड़ता है. बच्चे बाल्टियों और केन को डंडे में फंसा कर पीने का पानी भर कर लाते हैं.

मीडिया से बातचीत में बच्चों ने कहा कि स्कूल के बोर में पानी नहीं आता. ऐसे में उन्हें पानी की बाल्टियां भरने के लिए काफी दूर जाना पड़ता है. संस्था प्रधान सुनीता सोन का कहना है कि कई महीनों से पानी की समस्या बनी हुयी है. इस समस्या से कई बार सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी को अवगत कराया जा चुका है. लेकिन अब तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है.