अनलॉक-2 में स्कूल और कॉलेज केवल विद्यार्थियों के लिए बंद, शिक्षकों के लिए ये निर्देश

देश में अनलॉक-2 की शुरूआत हो चुकी है. केन्द्र के साथ ही राज्य सरकार ने भी अनलॉक-2 की गाइड लाइन जारी कर दी है.

अनलॉक-2 में स्कूल और कॉलेज केवल विद्यार्थियों के लिए बंद, शिक्षकों के लिए ये निर्देश
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: देश में अनलॉक-2 की शुरूआत हो चुकी है. केन्द्र के साथ ही राज्य सरकार ने भी अनलॉक-2 की गाइड लाइन जारी कर दी है. अनलॉक-2 में स्कूल और कॉलेजों के साथ ही शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का फैसला लिया गया है, जिसके बाद बीकानेर निदेशालय की ओर से 31 जुलाई तक सभी स्कूलों में विद्यार्थियों के अवकाश घोषित किए गए हैं, लेकिन ये छूट सिर्फ विद्यार्थियों के लिए ही रखी गई है. 

ये भी पढ़ें: CM गहलोत ने VC से लिया कोरोना हालातों का फीडबैक, बोले- जल्द नगण्य होगी मृत्यु दर

विद्यार्थी सिर्फ टीसी, प्रवेश, कक्षा क्रमोन्नत प्रमाण पत्र और अंकतालिका के लिए ही स्कूल आ सकेंगे. इस दौरान शिक्षकों और कार्मिकों को नियमित रूप से स्कूल आना पड़ेगा. इसको लेकर शिक्षा विभाग की ओर से गाइड लाइन जारी कर दी गई है. अनलॉक-2 के दौरान स्कूल आने वाले शिक्षकों और कार्मिकों के लिए शिक्षा विभाग की ओर से दिशा निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं. 

1 से 15 जुलाई के बीच प्रवेशोत्सव कार्यक्रम चलेगा तो वहीं मानसून सीजन में वृक्षारोपण अभियान भी शिक्षकों द्वारा चलाया जाएगा. इसके साथ ही ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग, स्माइल प्रोजेक्ट,शिक्षा वाणी, शिक्षा दर्शन जैसे कार्यों को शिक्षकों द्वारा किए जाएंगे. 

शिक्षा विभाग की गाइड लाइन को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का कहना है कि 24 जून से शिक्षकों के ग्रीष्मकालीन अवकाश खत्म कर दिए गए हैं, जिसके बाद अब शिक्षकों को विभिन्न कार्यों को निष्पादित करना है. इसके साथ ही विभाग की वेबसाइट अपडेट और स्कूलों में नामांकन बढ़ाने के लिए जो कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं उनको भी गति शिक्षकों द्वारा दी जाएगी. 15 जुलाई से प्रशिक्षण कार्यक्रम को लेकर अभी सरकार से वार्ता होनी है. प्रशिक्षण गाइड लाइन आने के बाद शिक्षकों के प्रशिक्षण शिविर भी आयोजित करवाए जाएंगे. 

ये भी पढ़ें: पतंजलि की ‘कोरोनिल’ को आयुष मंत्रालय से मिली बिक्री की अनुमति, रघु शर्मा ने कसा तंज