फिर से आया पतंगों का मौसम, Makar Sankranti का बाजारों में दिखने लगा असर

राजधानी जयपुर में इन दिनों वो काटा वो काटा का शोर सुनाई देने लगा है. गुलाबीनगरी में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर्व से पहले ही पतंगबाजी का हुनर छतों पर छाने लगा है. 

फिर से आया पतंगों का मौसम, Makar Sankranti का बाजारों में दिखने लगा असर
रंग बिरंगी पतंगों से सजी शहर की दूकानें.

जयपुर: राजधानी जयपुर में इन दिनों वो काटा वो काटा का शोर सुनाई देने लगा है. गुलाबीनगरी में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर्व से पहले ही पतंगबाजी का हुनर छतों पर छाने लगा है. बाजारों और दूकानों (Jaipur Market) में भी रंग बिरंगी पतंगे आकर्षण में बांध रही है. दान-पुण्य और पतंगबाजी का पर्व विभिन्न योग में गुरुवार को मनाया जाएगा. 

कोरोना (Coronavirus) के असर के बीच बच्चों को छोटा भीम, छोटू-मोटू, मोटू-पतलु व पोकीमोन की पतंगे लुभा रही है. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की पतंगे ग्राहकों को आकर्षित कर रही है. शहरवासी बिना डीजे के दिनभर रंग-बिरंगी पतंगों के साथ पेंच लड़ाएंगे. वहीं, मेहमानों को फीणी, पकौड़ी व तिल के लड्डू सहित अन्य पकवान खिलाए जाएंगे.

आय का जरिया बना पतंग कारोबार वहीं राजधानी जयपुर में पतंगबाजी के पर्व पर भी साम्प्रदायिक सौहार्द की झलक देखने को मिलती है. यहां एक नहीं कई मुस्लिम परिवार पीढिय़ों से पतंग व्यवसाय से जुड़े हुए हैं. विरासत में मिला पतंग बनाने का उत्साह परिवार के युवा से लेकर बुजुर्ग सदस्यों में देखते ही बन रहा है. यही काम परिवार की आय का जरिया है. संक्रांति तक पतंग और मांझे व फीणी और तिल के पकवानों का कारोबार बेहतर होने की उम्मीद है. राजधानी जयपुर से बीकानेर, जोधपुर, कोटा, टोंक, सवाईमाधोपुर जिलों में पतंगे भेजते हैं. कीमत 1 रुपए से लेकर 20 रुपए तक है.

कारोबारियों का कहना है कि इस बार कोरोना के चलते व्यापार पूरी तरह से प्रभावित हुआ है. शहर के साथ साथ इस बार गांवो से भी मांग निकली है. हांडीपुरा, सड़वा, झोटवाड़ा, शास्त्रीनगर कर्बला सहित दर्जनभर जगहों पर पतंगे तैयार की जा रही है. इस साल कीमतों की बात करें पतंगों में 10 प्रतिशत और मांझे में 20 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है.

पतंगबाजी के जोश में कोई दुर्घटना ना हो और पक्षियों का ख्याल भी रखा जाए, इसके लिए प्रशासन और पुलिस ने एडवाइजरी भी जारी की है. कोरोना संक्रम के चलते बड़े आयोजनो पर रोक रहेगी.

ये भी पढ़ें: Rajasthan में लापता हुए 684 पाकिस्तानी नागरिक, सुरक्षा एजेंसियां Alert पर