दूसरी पास ठग ने पढ़े लिखों से करोड़ों ठगे, चार साल में 250 लोगों को बनाया शिकार

एटीएम क्लोन कर ठगी करने के एक आरोपी को झुंझुनूं की कोतवाली पुलिस हरियाणा से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई है. 

दूसरी पास ठग ने पढ़े लिखों से करोड़ों ठगे, चार साल में 250 लोगों को बनाया शिकार
आरोपी ने करीब 10 महीने झुंझुनूं शहर में वारदात की थी.

संदीप केडिया, झुंझुनूं: एटीएम क्लोन (ATM Clone) कर ठगी करने के एक आरोपी को झुंझुनूं की कोतवाली पुलिस हरियाणा से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई है. इस आरोपी ने करीब 10 महीने झुंझुनूं शहर में वारदात की थी. जिस व्यक्ति के साथ वारदात की गई थी. उसे शक भी हो गया था, जिसके बाद तीन में से एक आरोपी को तो उसी वक्त दबोच लिया गया था, लेकिन शेष दो फरार हो गए थे. 

ये भी पढ़ें: पाक ने तुर्की को बनाया 'पाप' का नया भागीदार! भारत में आंतक की नई खेप भेजने की तैयारी

शहर कोतवाल मदन कड़वासरा ने बताया कि 20 दिसंबर 19 को नेतड़ा की ढाणी तन भोड़की निवासी महेशकुमार जाट ने थाने में रिपोर्ट दी थी कि वह ओबीसी बैंक के एटीएम से पैसे निकाल रहा था. वहां तीन संदिग्ध व्यक्ति खड़े थे. उसने अपना कार्ड मशीन में लगाया तो पास में खड़े व्यक्ति ने उसका कार्ड निकाला और अपने पास रखी एक एटीएम स्वीप मशीन में स्वीप पर लिया. महेश ने देखा और उससे कार्ड स्वीप के बारे में पूछा तो उसके साथ खड़े दो व्यक्ति बाहर निकल गए और पुलिस को फोन करने के दरमियान तीसरा व्यक्ति भी भागने लगा. इनमें से एक व्यक्ति को महेश व मौजूद भीड़ ने पकड़ लिया. 

वहीं, दो आरोपी भागने में सफल हो गए. मामले की तफ्तीश में जुटी पुलिस शेष दो आरोपियों के पीछे लगी हुई थी. तभी सामने आया कि फरार चल रहे दो आरोपियों में से एक आरोपी दो—चार दिन पहले हरियाणा पुलिस के हत्थे चढ़ गया है. कोतवाली पुलिस ने हरियाणा के गांव डाटा पुलिस थाना सदर हांसी हिसार निवासी 47 वर्षीय बलवान उर्फ बल्ला पुत्र रिसाला उर्फ रिसालसिंह सांसी को हिसार की केंद्रीय जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाई है. शहर कोतवाल कड़वासरा ने बताया कि आरोपी बलवान उर्फ बल्ला, पिछले चार सालों से इसी ठगी की वारदात में शामिल है. 

प्रारंभिक पूछताछ में हरियाणा पुलिस को बल्ला ने बताया है कि उसने चार सालों में करीब तीन करोड़ रुपए की ठगी की है. झुंझुनूं में की गई वारदात में उसके साथ उसका भतीजा पप्पू उर्फ रमेश और सामले का ल ड़का राजू उर्फ तितरा शामिल थे. इनमें से एक फरार है. कोतवाल कड़वासरा ने बताया कि आरोपी से झुंझुनूं जिले में की गई और भी वारदातों को लेकर पूछताछ की जा रही है. आरोपी ठग महज कक्षा दो तक पढा हुआ है, लेकिन चार सालों में उसने करीब 250 लोगों से करीब करीब तीन करोड़ रुपए ठगे है. 

आरोपी ने अपनी गैंग के साथ देश के करीब नौ राज्यों राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, गुजरात, पंजाब, उत्तराखंड, हिमालचप्रदेश व मध्यप्रदेश आदि राज्य शामिल है. पहले एक समय में ये गैंग बस व ट्रेन में चीरा लगाकर वारदातें करता था, लेकिन जब तकनीक का जमाना आया तो एटीएम क्लोन के जरिए ठगी करना शुरू किया.

 

ये भी पढ़ें: जयपुर: नगर निगम चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया सकंल्प पत्र, 41 बिंदुओं को दिया स्थान