टोंक पंचायतीराज चुनाव: दूसरे चरण का मतदान कल, संवेदनशील बूथों पर किए गए पुख्ता इंतजाम

कल 27 नवम्बर को पंचायती राज चुनाव के दूसरे चरण का मतदान टोडारायसिंह और मालपुरा पंचायत समिति के कुल 38 वार्ड और 7 जिला परिषद वार्डों पर मतदान किया जाएगा. 

टोंक पंचायतीराज चुनाव: दूसरे चरण का मतदान कल, संवेदनशील बूथों पर किए गए पुख्ता इंतजाम
प्रतीकात्मक तस्वीर.

पुरुषोत्तम जोशी, टोंक: जिले में दूसरे चरण के मतदान के लिए मतदान दलों का आज जिला निर्वाचन अधिकारी गौरव अग्रवाल, सहायक निर्वाचन अधिकारी सुखराम खोखर प्रभारी नवनीत सहित अधिकारियों ने प्रशिक्षण देकर रवाना किया. 

कल 27 नवम्बर को पंचायती राज चुनाव के दूसरे चरण का मतदान टोडारायसिंह और मालपुरा पंचायत समिति के कुल 38 वार्ड और 7 जिला परिषद वार्डों पर मतदान किया जाएगा. बता दें कि चार चरणों में पंचायत चुनाव होंगे और 8 दिसंबर को मतगणना होगी.

दरअसल, टोंक जिले में पंचायत राज चुनाव के पहले चरण में तीन पंचायत समितियों के चुनाव हो चुके हैं. दूसरे चरण में मालपुरा एवं टोडारायसिंह में 27 नवम्बर को मतदान होगा, जिसके लिए राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बहीर में प्रशिक्षण के बाद मतदान दलों को रवाना किया गया.

टोडारायसिंह में 94 हजार 321 मतदाता करेंगे मतदान
दूसरे चरण में जिला परिषद की सात सीटों में चार सीटों पर कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला होगा. वहीं, अन्य तीन जगह तीन-तीन प्रत्याशी मैदान में है. दूसरे चरण में ही जिला परिषद के वार्ड 25 के शेष रहे क्षेत्र में भी चुनाव होगा. इस वार्ड के कुछ क्षेत्रों में प्रथम चरण में मतदान हो चुका है. 27 नवंबर को दूसरे चरण के मतदान में मालपुरा की 23 वार्डों में वोट डाले जाएंगे, जहां पर 9 वार्डों में कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है. बाकी जगह त्रिकोणीय और बहुकोणीय संघर्ष की भी स्थितियां है. टोडा की 15 सीटों के लिए भी चुनाव होंगे. प्रथम चरण में टोंक, पीपलू एवं निवाई की 59 वार्डों के लिए मतदान हो चुका है. जिला परिषद की 11 सीटों के लिए चुनाव हुए थे, जिसमें से वार्ड 16 में तीसरे और 25 वार्ड में दूसरे चरण में भी कुछ जगह चुनाव होने हैं.

25 सीटों पर महिलाओं का बोलबाला
जिला परिषद की 25 सीटों में इस बार महिलाओं का बोल-बाला है. कांग्रेस और भाजपा ने 15 - 15 महिलाओं को चुनाव में मौका दिया है. कुल 34 महिलाएं चुनाव मैदान में है, जिसमें उच्च शिक्षा प्राप्त महिलाएं भी शामिल हैं, तो कई केवल साक्षर ही है. इसमें 21 महिलाएं गृहिणी हैं. इसी प्रकार चुनाव मैदान में 22 लोग ऐसे हैं, जिसमें महिला प्रत्याशी भी शामिल है, जो कृषि कार्य करते हैं. हालांकि स्टूडेंट से लेकर एडवोकेट तक चुनाव मैदान में भाग्य आजमा रहे हैं. दोनों ही प्रमुख दलों ने साक्षर को भी मौका दिया तो, उच्च शिक्षा प्राप्त प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में हैं.

हर वर्ग के लोग हैं चुनावी मैदान में
जिला परिषद की 25 सीटों पर 59 प्रत्याशी मैदान में है, जिसमें प्रथम चरण में 11 वार्डों के चुनाव हो चुके हैं. जिला परिषद की 25 सीटों पर युवाओं के साथ ही बुजुर्ग भी पीछे नहीं है. 21 साल से 70 साल तक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. हालांकि चुनाव में बिजनेसमैन, वकील, स्टूडेंट एवं उच्च शिक्षा प्राप्त प्राईवेट कार्य करने वाले चुनाव मैदान में है. लेकिन अधिकांश जगह कृषि कार्य करने वाले एवं गृहणी महिलाओं का बोल-बाला है.

अभी बाकी हैं तीन चरण
जिले में पंचायत समिति एवं जिला परिषद के लिए हो रहे चुनाव के तीन चरण अभी बाकी है. दूसरे चरण में 27 नवंबर को मालपुरा व टोडारायसिंह में चुनाव होना है. तीसरे चरण में 1 दिसंबर को उनियारा पंचायत समिति क्षेत्र व चौथे चरण में 5 दिसंबर को देवली पंचायत समिति क्षेत्र में चुनाव होंगे. सभी चरणों की मतगणना 8 दिसंबर को होगी.

पुरुषों से अधिक महिला प्रत्याशी
जिला परिषद में 2010 के बाद इसबार भी महिला प्रत्याशियों का बोल-बाला है. 2010 में जिला परिषद में 25 में से 15 महिलाएं विजयी रही थीं. इस बार ऐसी ही स्थिितयां हैं. इस बार 25 जिला परिषद सीटों पर 59 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं, जिसमें 34 महिलाएं मैदान में हैं. जबकि पुरुष प्रत्याशियों की संख्या 25 है.