close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान विधानसभा सत्र के दौरान सुरक्षा को लेकर सचिवालय ने दिए निर्देश

सत्र के दौरान विधायकों और मंत्रियों की सुरक्षा के लिए विधानसभा सचिवालय ने पिछले सत्र में लगे सुरक्षाकर्मियों को ही लगाने के निर्देश दिए हैं.

राजस्थान विधानसभा सत्र के दौरान सुरक्षा को लेकर सचिवालय ने दिए निर्देश
राज्य की 15वीं विधानसभा का दूसरा सत्र 27 जून से शुरू होगा.

विष्णु शर्मा /जयपुर: राजस्थान विधानसभा के 27 जून से शुरु होने जा रहे बजट सत्र के दौरान चाक-चौबंद सुरक्षा के प्रयास किए जा रहे हैं. सत्र के दौरान विधायकों-मंत्रियों से कोई बदसलूकी नहीं हो, इसके लिए विधानसभा सचिवालय ने पिछले सत्र में लगे सुरक्षाकर्मियों को ही लगाने के निर्देश दिए हैं. विधानसभा की सुरक्षा में त्रिस्तरीय रूप से अलग-अलग सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे.

राज्य की 15वीं विधानसभा का दूसरा सत्र 27 जून से शुरू होगा. सत्र के दौरान सुरक्षा के माकूल बंदोबस्त किए जाएंगे. सदन की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विधानसभा सचिव प्रमिल कुमार माथुर ने राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप को पत्र लिखा है. पत्र में विधान सभा की सुरक्षा के लिए पूर्व में नियुक्त किए गए सुरक्षा अधिकारियों व कर्मचारियों को ही लगाने की की मांग की गई है. इससे उन्हें विधानसभा सदस्यों के साथ ही स्टाफ के सदस्यों को पहचानने में किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो. यह सही भी है कि विधानसभा में अधिकांश सदस्य नए चुनकर आए हैं, ऐसे में उनकी पहचान पुराने सदस्य ही कर पाएंगे. विधानसभा भवन परिसर की सुरक्षा सुदृढ़ की मांग करते हुए एक सूची भी सौंपी है.

विधानसभा सचिव ने गृह विभाग से सुरक्षा अधिकारियों कर्मचारियों के नामों की सूची मंगलवार 25 जून सुबह 11 बजे तक आवश्यक रूप से भिजवाने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि उनको नियुक्ति आदेश वर्दी, रिहर्सल एवं सुरक्षा संबंधी निर्देश समय पर दिए जा सकें, साथ ही कहा गया है कि सत्र बैठकों के बीच किसी भी सुरक्षा अधिकारी कर्मचारी को नहीं बदला जाए.

वहीं, यह भी निर्देश दिए हैं कि किसी के प्रशिक्षण रिफ्रेशर कोर्स या अन्य माध्यमों से जिन सुरक्षा अधिाकरियों को अन्यत्र भेजने की संभावना हो उन्हें डेप्यूट नहीं किया जाए, इधर विधानसभा सचिव ने सुरक्षा सत्र नजदीक आने के बावजूद विधानसभा ड्यूटी से लोकसभा चुनाव में गए पुलसकर्मियों को समय पर वापस नहीं भेजने पर भी नाराजगी जताई है,

जानकारी के अनुसार विधानसभा में सदन के बाहर व मार्शल के निर्देश पर कार्रवाई करने वाली टास्क फोर्स में आरएसी के जवान शामिल होते हैं, वहीं दर्शक दीर्घा, पत्रकार दीर्घा, गेटों पर सीआईडी आईबी के अधिकारी कर्मचारी होते हैं, पार्किंग व बाहर की तरफ सुरक्षा में पुलिस लाइन से जाब्ता तैनात किया जाता है.