राजस्थान के सभी सातों संभागों में पिछले साल के मुकाबले कम बारिश, सूख रहे बांध

पिछले साल मानसून की मेहरबानी से राजस्थान के बांध खिल उठे थे.

राजस्थान के सभी सातों संभागों में पिछले साल के मुकाबले कम बारिश, सूख रहे बांध
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: राजस्थान की धरा पर इस बार मानसून मेहरबान नहीं हो रहा है. पिछले साल की तुलना में इस साल हर संभाग में कम बारिश हुई. प्रदेश के सातों संभाग में पिछले साल के मुकाबले बांधों में कम पानी पहुंचा है, ऐसे में बारिश नहीं होने से बांधों का जलस्तर कम होता जा रहा है.

चलिए आपको बताते है राजस्थान में संभागवार बारिश की स्थिति क्या है और इसका कितना असर बांधों पर पड़ रहा है?

यह भी पढ़ें- मानसून में राजस्थान के इन बांधों से अच्छी खबर, पिछले साल के मुकाबले 13% ज्यादा पानी

पिछले साल मानसून की मेहरबानी से राजस्थान के बांध खिल उठे थे, लेकिन इस बार बांध बारिश की तरस रहे हैं. पिछले सीजन सालभर अच्छी बारिश का नतीजा है कि बांधों में एक साल का पानी और बचा है लेकिन बारिश के आकंड़ों पर नजर डालते हैं कि तो सभी संभागों में पिछले साल के मुकाबले बहुत कम बरसात हुई है.

आकंड़ों से समझे बारिश और बांध का गणित, 1 जून से 31 जुलाई
संभाग            2019 में बारिश (%)     2020 में बारिश(%)

बीकानेर               - 8.2                -12.2
जोधपुर                - 18.7              - 35.8
अजमेर                 33.1               - 33.7
भरतपुर                14.2               - 29.4
जयपुर                 36.0               - 30.9
कोटा                  23.6               - 33.2
उदयपुर                14.2               - 30.9

कम बारिश का नतीजा यही है कि राजस्थान के 22 बड़े बांधों में 40 प्रतिशत पानी बचा है, सभी छोटे बड़े बांधों की बात करे तो इनमें 55 फीसदी पानी बचा है. ऐसे में अभी भी मानसून से उम्मीद है कि जाते-जाते थोड़े बदरा तो जरूर बरसें, ताकि आने वाले सालों के लिए और पानी इकट्ठा हो सके.