close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मुसलाधार बारिश से कई जिले हुए जलमग्न, स्कूलों में छुट्टी के आदेश

लगातार बरसात के देखते हुए प्रशासन ने स्कूलों की छुट्टी के आदेश दे दिए गए. एहतियात के तौर पर नवलगढ़ पुलिया और बाजार रोड का यातायात बंद किया गया है. 

राजस्थान: मुसलाधार बारिश से कई जिले हुए जलमग्न, स्कूलों में छुट्टी के आदेश
हालांकि बारिश के कारण अभी तक किसी प्रकार की जन हानि की बात सामने नहीं आई है.

जयपुर: प्रदेश के कई जिलों में देर रात शुरू हुई बरसात का दौर अभी भी जारी है. लक्ष्मणगढ़, फतेहपुर, श्रीमाधोपुर, लोसल और रींगस इलाकों में भारी बरसात चल रही है. सबसे ज्यादा बरसात लोसल कस्बे में हुई है, जहां आधा दर्जन से ज्यादा कॉलोनियों में जलभराव हो गया है. वहीं शहर की बात करें तो शहर की नवलगढ़ रोड पुलिया आज फिर बंद कर दी गई है. यहां काफी जलभराव हो गया है जिससे बजाज रोड़ और गणेश मंदिर के पास भी हालात खराब है. 

वहीं शहर के बस स्टैंड जाट बाजार एवं तापड़िया बगीची पर में भी जलभराव हो गया है. अतिरिक्त जिला कलेक्टर जयप्रकाश ने बताया कि भारी बरसात के चलते स्कूलों में छुट्टियां कर दी गई है. एतिहात के तौर पर आपदा प्रबंधन की टीम को अलर्ट पर रखा हुआ है. नगर परिषद के अधिकारी और कर्मचारी जलभराव के क्षेत्रों में अपना काम बखूबी से कर रहे हैं, लेकिन लगातार हुई बरसात से काफी इलाकों में जलभराव की सूचना आ रही है. जिले के कई रेलवे अंडरपास ओं में भी पानी भर गया है. वहीं शहर में भी हालात खराब है. एहतियात के तौर पर नवलगढ़ पुलिया और बाजार रोड का यातायात बंद किया गया है. अगर लगातार बरसात जारी रहती है तो निश्चित रूप से जनता को परेशानी होगी ऐसे में स्कूलों की सुबह छुट्टी के आदेश कर दिए गए थे. 

जबकि अजमेर के भिनाय उपखंड के किटाप गांव में लगातार हो रही तेज बारिश के चलते अब धीरे-धीरे तालाब की ओर चारों और बनी पक्की दीवार ढ़हने लगी. जिसकी वजह से तालाब में मिट्टी कटाव शुरू हो गया. ऐसे में ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने कई बार स्थानीय ग्राम पंचायत सहित प्रशासन को सूचना दी लेकिन मौके पर कोई प्रशासन का नुमाइंदा पहुंचा ना ही स्थानीय ग्राम पंचायत का ऐसे में ग्रामीणों में तालाब के फटने को लेकर डर बना हुआ है. वहीं प्रशासन और स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रति ग्रामीणों का आक्रोश है कि वह सूचना के बावजूद भी समय पर नहीं पहुंच पा रहे हैं.

साथ प्रदेश के नागौर ज़िले में पिछले तीन दिनो से जारी बारिश का दौर आज भी जारी है. जिले में पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश का कहर आज भी देखने को मिला. नागौर ज़िले में लगातार हो रही बारिश के चलते नागौर ज़िले की कई स्कूलो के मैदानो में पानी भर गयाक ग्रामीण क्षेत्रों के रास्ते बारिश के पानी से लबालब हो गएक जिसका असर लोगों के आने जाने पर हुआ.

नागौर ज़िले में बारिश के चलते मेड़ता रोड, मेड़ता सिटी रेलवे स्टेशन क्षेत्र की पटरियों भी पानी से डूब गई. जिसका असर रेल यातायात पर भी पड़ा. ज़िले में भारी बारिश की सम्भावनाओ के चलते नागौर जिला कलेक्टर दिनेश यादव ने नागौर ज़िले की सभी स्कूलों में दो दिनों के अवकाश की घोषणा कर दी. बारिश को लेकर किसी प्रकार की कोई जन हानि की बात सामने नहीं आई है.