जयपुर: आतंकवाद से लड़ेगा शंघाई सहयोग संगठन, बैठक में 8 देशों के 50 प्रतिनिधि शामिल

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सहयोग से शंघाई देशों के क्षेत्रीय आतंकवाद निरोधक संरचना के कानूनी और तकनीकी विशेषज्ञों की मेजवानी जयपुर को मिली है. आयोजन के लिए विदेश मंत्रालय से राजनीतिक मंजूरी ले ली गई.

जयपुर: आतंकवाद से लड़ेगा शंघाई सहयोग संगठन, बैठक में 8 देशों के 50 प्रतिनिधि शामिल
आयोजन के लिए विदेश मंत्रालय से राजनीतिक मंजूरी ले ली गई.

विष्णु शर्मा, जयपुर: शंघाई सहयोग संगठन के क्षेत्रीय आतंकवाद रोधी संरचना के कानूनी और तकनीकी विशेषज्ञों के समूह की जयपुर में बैठक शुरू हुई. दिल्ली रोड स्थित एक होटल में शुरू हुई यह बैठक 17 जनवरी 2020 तक चलेगी. बैठक में भारत सहित 8 देशों के 50 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सहयोग से शंघाई देशों के क्षेत्रीय आतंकवाद निरोधक संरचना के कानूनी और तकनीकी विशेषज्ञों की मेजवानी जयपुर को मिली है. आयोजन के लिए विदेश मंत्रालय से राजनीतिक मंजूरी ले ली गई.

इन 8 देशों के प्रतिनिधि हुए शामिल
बैठक में शामिल होने के लिए विभिन्न देशों के प्रतिनिधि सोमवार को जयपुर हवाई अड्डे पर पहुंचे. इसके बाद उन्हें होटल ले जाया गया. बैठक में चीन, रूस, पाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, कज़ाकिस्तान, ताजीकिस्तान, भारत और कुर्दिस्तान के प्रतिनिधियों के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सदस्य भी शामिल हुए हैं.

केंद्र सरकार ने की सभी व्यवस्थाएं
शंघाई देशों के प्रतिनिधियों के ठहरने से लेकर खाने-पीने घूमने तक की सभी व्यवस्था है. केंद्र सरकार की ओर से की गई है. राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय के अतिरिक्त सचिव एसएम सहाय ने राज्य के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को प्रतिनिधियों के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था और प्रोटोकॉल के लिए पत्र लिखा है.

आतंकवाद रोकने में तकनीकी उपायों पर विचार
बैठक में शामिल देशों के विशेषज्ञ आतंकवाद रोकने में तकनीकी का किस प्रकार उपयोग किया जा सकता है, इस बात पर मंथन करेंगे कि सभी देश इस तकनीक का किस तरह परस्पर समन्वय और सहयोग कर सकते हैं?