टोंक: दुकानदारों के हौसले बुलंद, पुलिस पर पक्षपात पूर्ण रवैये के लग रहे आरोप

टोंक जिले में देवली पुलिस व प्रशासन की अनदेखी से दुकानदारों के हौसले बुलंद हैं.

टोंक: दुकानदारों के हौसले बुलंद, पुलिस पर पक्षपात पूर्ण रवैये के लग रहे आरोप
व्यापारियों का आरोप यह भी था कि प्रशासन पक्षपात पूर्ण रवैया क्यों अपनाता है.

पुरुषोत्तम जोशी, टोंक: राजस्थान के टोंक जिले में देवली पुलिस व प्रशासन की अनदेखी से दुकानदारों के हौसले बुलंद हैं. देवली थाना पुलिस व प्रशासन द्वारा जिला कलेक्टर के आदेशों की पालना नहीं की जा रही. कोरोना के इस संक्रमण काल में देर सायं 8-9 बजे तक दुकाने खुली रहती हैं. व्यवसायी फेस मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते नहीं दिख रहे.

ये भी पढ़ें: राजस्थान विधानसभा में लंबा है विश्वास-अविश्वास मत का इतिहास, जानें कब कौन हुआ चित्त?

पुलिस व प्रशासन की अनदेखी के कारण कस्बे के महाराणा प्रताप सर्किल के आसपास कई दुकानदार देर सायं तक अपने प्रतिष्ठान खोल कर ये जताना चाहते हैं कि हमने पहले फाइन भर दिया अब पुलिस व प्रशासन हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकते. यह आरोप लगाते हुए कस्बे के अन्य व्यापारियों का आरोप था कि पुलिस व प्रशासन की लापरवाही से ऐसे प्रभावशाली दुकानदारों के हौसले बुलंद हैं.

व्यापारियों का आरोप यह भी था कि प्रशासन पक्षपात पूर्ण रवैया क्यों अपनाता है. एक तरफ कस्बे में सभी प्रतिष्ठानों को सायं 6 बजे बंद करवा देते हैं जबकि ममता सर्किल पर दुकानें रात तक आबाद रहती हैं. क्या गश्त के दौरान पुलिस व प्रशासन खुली दुकानों को देख नहीं पाते. वह उन दुकानों को नजर अंदाज कर देते हैं ऐसा क्यों? शिकायत करने वाले दुकानदार पुलिस व प्रशासन को कहने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं. ऐसे में अन्य व्यवसायी पुलिस व प्रशासन को एक अलग ही नजर से देखने लगे हैं.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में गहलोत सरकार का बड़ा कदम, अब मोबाइल OPD वैन के जरिए मिलेंगी फ्री दवाएं