NHAI की तैयारियां पूरी, जल्द कोटा-झालावाड़ हाईवे पर शुरू होगी टोल वसूली

इसके लिए एनएचएआई (NHAI) को सड़क निर्माण के पूरे होने के प्रमाण पत्र का इंतजार है. इस 34 किलोमीटर की सड़क का निर्माण राजस्थान सरकार के सार्वजनिक निर्माण विभाग के नेशनल हाईवे खंड ने किया है.

NHAI की तैयारियां पूरी, जल्द कोटा-झालावाड़ हाईवे पर शुरू होगी टोल वसूली
इस चार लेन के सीसी सड़क निर्माण में 624 करोड़ रुपये की लागत आई है.

केके शर्मा, कोटा: जिले से झालावाड़ को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे 52 पर हाईवे निर्माण का काम पूरा हो गया है. ऐसे में अब वहां नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने वहां टोल प्लाजा भी स्थापित कर दिया है. जल्द ही यहां पर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया टोल वसूली शुरू करेगी. 

इसके लिए एनएचएआई (NHAI) को सड़क निर्माण के पूरे होने के प्रमाण पत्र का इंतजार है. इस 34 किलोमीटर की सड़क का निर्माण राजस्थान सरकार के सार्वजनिक निर्माण विभाग के नेशनल हाईवे खंड ने किया है. इसकी राशि केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने जारी की थी. इस चार लेन के सीसी सड़क निर्माण में 624 करोड़ रुपये की लागत आई है. इसके लिए दरा के पास एक टोल प्लाजा स्थापित कर दिया गया है, जिसका प्रस्ताव बनाकर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने मुख्यालय भेजा था. वहां से स्वीकृति भी मिल गई है. 

इस प्रस्ताव में कार के लिए 55 रुपये एक बार निकलते पर टोल वसूली का प्रावधान रखा गया है. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के प्रोजेक्ट डायरेक्टर कोटा वीरेंद्र सिंह का कहना है कि सड़क का निर्माण पीडब्ल्यूडी के एनएच डिवीजन ने मोंटे काल्लो कंपनी से करवाया है. इसमें 4 साल का डिफेक्ट लायबिलिटी पीरियड है. ऐसे में सड़क पीडब्ल्यूडी के पास ही रहेगी, लेकिन उसका टोल वसूली एनएचएआई (NHAI) करेगी. जिसके लिए टेंडर भी जारी कर दिए हैं और मैसर्स नूर मोहम्मद को टोल वसूली की जिम्मेदारी भी सौंप दी है. 

सड़क की कंसलटेंट फर्म ने निर्माण पूरा होने का प्रमाण पत्र नहीं दिया है. इसके चलते टोल वसूली शुरू नहीं हुई है. 30 नवंबर तक यह प्रमाण पत्र मिलने की उम्मीद है. इसके मिलते ही 2 या 3 दिन बाद  टोल वसूली शुरू कर दी जाएगी. इसके लिए विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है, पूरा टोल प्लाजा बनकर तैयार है और वहां लगने वाले इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम और सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो चुके हैं, जिनका ट्रायल भी NHAI ले चुका है.
वहीं प्रोजेक्ट डायरेक्टर वीरेंद्र सिंह का कहना है कि कोटा दरा के लिए निर्मित हाईवे का काम पूरा हो चुका है, जहां जल्द टोल वसूली शुरू की जाएगी. इसके लिए सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं. केवल कंप्लीशन सर्टिफिकेट का इंतजार है.